Lakhimpur Kheri News: वंदन गार्डन में आयोजित हुआ मेगा क्रेडिट कैम्प, डीएम ने किया शुभारंभ

वंदन गार्डन में आयोजित हुआ मेगा क्रेडिट कैम्प, डीएम ने किया शुभारंभ

मेगा क्रेडिट कैंप : डीएम ने लाभार्थियों को बांटे ऋण स्वीकृत पत्र

एन के मिश्रा

लखीमपुर खीरी । वंदन गार्डन में इंडियन बैंक के तत्वावधान में मेगा क्रेडिट कैंप का भव्य आयोजन हुआ। जिसमें ज़िले की विभिन्न राष्ट्रीयकृत व निजी बैंकों ने विभिन्न सरकारी योजनाओं में 4177 लाभार्थियों को उनकी आवश्यकता के अनुरूप सौ करोड़, 15 लाख का ऋण स्वीकृत की गई। जिसमें आज 3438 लाभार्थियों को 61 करोड़ 50 लाख की ऋण धनराशि उनके खातों में भेजी।

इस मेगा क्रेडिट कैंप का शुभारंभ डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने सीडीओ अनिल सिंह, मंडल प्रमुख गजेंद्र सिंह चिलवाल, अग्रणी जिला प्रबंधक वीएस राणा की मौजूदगी में दीप प्रज्वलन कर किया।

डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने कहा कि बैंक जीवन का महत्वपूर्ण अंग है। बैंकों के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। उन्होंने बैंकों का उदय, राष्ट्रीयकरण की जानकारी देकर पूरा इतिहास बताया। बैंक पैसे को संचित करने के साथ ही ब्याज भी देते हैं। बैंकिंग सिस्टम से सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में पारदर्शिता आई। सरकार ने जनधन योजना के जरिए लोगों को बैंकों से जोड़ा, यही नहीं कोविड में सरकार ने इन्ही खातों में आर्थिक मदद भी भेजी। लोन एक अच्छी प्रक्रिया है। बैंक लोगों को आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बनाने हेतु बड़े पैमाने पर ऋण मुहैया कराते हैं व स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त करते हैं। उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में प्रधानमंत्री जी ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना के जरिए जिले के 5.54 लाख किसानों के खातों में 110.9772 करोड़ धनराशि खातों में भेजी।

डीडी कृषि डॉ योगेश प्रताप सिंह ने बताया कि कृषि क्षेत्र के उन्नयन में बैंकों का बड़ा योगदान है। सरकार किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम बैंकों के जरिये न केवल क्रियान्वित कर रही बल्कि किसानों को सशक्त बना रही। उन्होंने बताया कि पीएम किसान सम्मान निधि का सीधा लाभ भी बैंकों के जरिये सीधे आपके खाते में पहुंच रहा।

कार्यक्रम की शुरुआत में उप मंडल प्रमुख गजेंद्र सिंह चिलवाल ने मेगा क्रेडिट कैंप की आवश्यकता व प्रासंगिकता पर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को बैंकों द्वारा वित्तपोषण किए जाने का मेगा क्रेडिट टाइम एक अच्छा जरिया है।वही एलडीएम बीएस राणा ने बताया कि देश के विकास व सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन मे बैंकों का अहम किरदार है। बताया कि किसान क्रेडिट कार्ड, पीएम रोजगार सृजन कार्यक्रम ओडीओपी, पीएम स्वनिधि योजना, पीएम मुद्रा योजना, स्टैंडअप जैसी जनकल्याणकारी योजनाओं में बैंक अपनी सशक्त भागीदारी निभा रहे। कोविड के कालखंड में बैंकों ने कंधे से कंधा मिलाकर काम किया। बैंकों को अपना सच्चा मित्र माने, बैंकों से जो लोन ले उसे पूरी इमानदारी से वापस करें।मेगा लोन कैंप में
इंडियन बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आर्यावर्त बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, पंजाब एंड सिन्ध बैंक, केनरा बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक, डिस्टिक कोऑपरेटिव बैंक, आईडीबीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, आईसीआईसी बैंक, एक्सिस बैंक ने प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *