Lakhimpur Kheri News:मलेरिया के केसेज पर प्रशासन अलर्ट, डीएम ने बुलाई अधिकारियों की बैठक

तीनों गांव में लगेंगे स्टैटिक मेडिकल कैंप, आठ-आठ घंटों की रहेगी ड्यूटी
एन.के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी । डीएम डॉ. अरविंद कुमार चौरसिया ने कलेक्ट्रेट में स्वास्थ्य, पंचायती राज, व नगर निकाय के अधिकारियों संग मलेरिया, डेंगू एवं मच्छर जनित रोगों के खिलाफ मुहिम चलाने हेतु जरूरी बैठक की।
बैठक की शुरुआत में सीएमओ डॉ शैलेंद्र भटनागर ने जेई- एईएस व डेंगू के केसेस का वर्षवार डाटा/विवरण बताया। डीएम ने जाना कि मलेरिया विभाग की टीमों ने अब तक क्या-क्या काम किए, उनकी आगे की क्या कार्ययोजना है। उन्होंने मौजूद अधिकारियों को कैमाबुजुर्ग, लालनपुर व करनपुर में डोर टू डोर सर्वे कराते हुए त्वरित गति से निरोधात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए। हाउस टू हाउस सर्वे का सोर्स जाना। सूर्यास्त के बाद युद्धस्तर पर फागिंग कराएं, नालियों में केरोसिन डलवाए। इन क्षेत्रों में सभी मलेरिया निरीक्षको की ड्यूटी लगाई जाए।
उन्होंने टीमों से डोर टू डोर भ्रमण गतिविधियों, उस दौरान पूछे जाने वाले प्रश्नों की जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि कैमा बुजुर्ग, लालनपुर व करनपुर गांव में स्टैटिक हेल्थ कैंप लगाए जाएं, जिनमें आठ-आठ घंटे पर स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी भी लगाई जाए। डीएम के पूछने पर सीएमओ ने बताया कि जिलेभर में 1357 टीमें डोर टू डोर सर्वे में लगाई गई, जो 16 सितंबर तक सर्वे कार्य को पूर्ण करेंगी। डीएम ने नपाप लखीमपुर को निर्देशित किया कि ऐसे प्लाट मालिकों को नोटिस दे, जिनके प्लाट में जलजमाव है। वही इन प्लाटों में एंटीलार्वा भी डलवाया जाए।
उन्होंने कहा कि सर्वे के समय ग्रामीणों को सलाह दें कि वह फुल आस्तीन के कपड़े पहने, रात में सोने से पहले तेल व कपूर का मिश्रण हाथ पैरों में लगाएं। जिन घरों में मलेरिया के मरीज मिले, उन्हें एंटीमलेरिया की औषधि भी दी जाए। वही इन गांव में प्रीमेडीकेशन भी कराया जाए। उन्होंने डीपीआरओ को निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर साफ सफाई अभियान चलवाए।
बैठक में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अश्विनी, डॉ आरपी दीक्षित, डॉ आदिम, डॉ वीसी पंत, वरिष्ठ मलेरिया निरीक्षक दावा राणा, रजा, एडीआईओ विपिन कुमार, नपाप लखीमपुर के अधिकारी मौजूद रहे।
*कैमाबुजुर्ग पहुंचे डीएम, स्वयं अधिकारियों संग किया डोर टू डोर सर्वे, मलेरिया की टटोली नब्ज*
शुक्रवार को तहसील मितौली, ब्लाक के ग्राम कैमाबुजुर्ग पंहुचे। जहां उन्होंने सीएमओ डॉ शैलेंद्र भटनागर, एसडीएम दिग्विजय  सिंह, डीपीआरओ सोम्यशील सिंह, बीडीओ शिखर श्रीवास्तव के साथ भ्रमण कर स्थलीय निरीक्षण किया। हैंडपंप के आसपास मिट्टी डलवाने व शॉकपिट बनवाने के निर्देश दिए। जलभराव वाले स्थानो पर एन्टीलार्वा स्प्रे करवाएं।
डीएम ने अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेहजम डॉ अनिल वर्मा से अबतक हुई सैंपलिग की जानकारी ली, जरूरी निर्देश दिए। भ्रमण के दौरान ग्रामीण जयप्रकाश के मकान के आगे जलभराव पाए जाने पर डीएम ने हिदायत दी कि शाम तक अनिवार्य रूप से फ़ावडे से जलजमाव वाले स्थानों पर मिट्टी डलवाये। उन्होंने मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांव के दोनों तालाबों में गम्बूसिया मछली डलवायी जाए। उन्होंने मौजूद पुलिस बल को निर्देश दिये कि जो ग्रामीण प्रशासनिक टीमों के कहने के बावजूद गंदगी करें एवं कहना ना माने। उनसे सख्ती से निपटा जाए। उन्होंने प्राथमिक विद्यालय कैमाबुजुर्ग में स्टैटिक हेल्थ कैंप लगवाने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि एसडीएम, बीडीओ व डीपीआरओ गांव में रुककर अपनी देखरेख में साफ सफाई अभियान चलाकर जलजमाव वाले स्थलों पर एंटी लारवा स्प्रे कराएं। उन्होंने अपने सामने ग्रामीणों के छतों पर दिखवाया कि वहां जलभराव तो नहीं है। डीएम ने कहा कि वह कल फिर यहां निरीक्षण करेंगे तब तक सभी संबंधित अधिकारी उनके द्वारा दिए गए निर्देशों का सभी तीनों मजरो में अनुपालन करा दें। डीएम ने गुलशन व रोशनी के घर पहुंचे, जहां उन्होंने उनके परिवारी जनों से बातचीत की। डीएम ने सभी ग्रामीणों को पूरे कपड़े पहने की सलाह दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *