Lakhimpur Kheri News:खीरी हिंसा पुलिस को मोनू मिश्रा की तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड मिली

एन.के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी। एक घण्टे की हंगामेदार बहस के बाद पुलिस को लखीमपुर खीरी हिंसा के मुकदमा संख्या 219 / 2021 धारा 147, 148, 149, 279, 338, 304 A, 302, 120 B के मुख्य अभियुक्त केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा उर्फ मोनू  की तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड मिल गयी है। यह जानकारी एसपी विजय ढुल ने दी। आज दो बजे सीजेएम चिंतामणि की अदालत में  अभियुक्त की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पेशी शुरू हुई। अभियोजन पक्ष ने कहा कि अभी तमाम पूँछतांछ बाकी है। साक्ष्य इकट्ठा करने है। कुछ बरामदगी भी करनी है। इसलिए 14 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड अदालत दे दे । मोनू के वकील अवधेश सिंह ने इसका तीव्र विरोध किया। कहा 12 घण्टे पूंछ तांछ शनिवार को कर चुके है। अब क्या थर्ड डिग्री देकर मारपीट कर कबूलवाने की योजना है। लम्बी बहस को सीजेएम ने सुना और आदेश सुरक्षित कर लिया। मीडिया की अदालत कक्ष में मौजूदगी का विरोध किया ।  बहस के समय अदालत के अंदर व बाहर सैकड़ो लोगो का जमावड़ा था। भारी सुरक्षा व्यवस्था भी थी । करीब 4 बजे एपीओ एसपी यादव ने बताया कि तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड स्वीकृत हो गयी है। रिमांड 12 को 10 बजे से 15 की सुबह 3 बजे तक प्रभावी रहेगी। यह भी निर्देश पुलिस को दिए गए हैं कि पूंछतांछ के समय मोनू का अधिवक्ता मौजूद रहेगा। बातचीत दूर से की जाएगी।
मोबाइल व 315 बोर की राइफल की जांच होगी
लखीमपुर खीरी। सूत्रों के अनुसार मोनू मिश्र के मोबाइल को एसआईटी ने कब्जे में लिया है। इसकी फोरेंसिक जांच होगी। कितने सिम कार्ड घटना वाले दिन प्रयोग किये गए, बातचीत का ब्यौरा, मोबाइल की लोकेशन खंगाली जाएगी। एक लाइसेंसी 315 बोर की राइफल भी जब्त की गई है। इसकी भी फोरेंसिक जांच होगी। हिंसा स्थल से 315 बोर के दो खोके मिले है। यह फायर किस असलहे से किये गए। वह असलहा बरामद करने का प्रयास होगा। हिंसा स्थल व मोनू के पेट्रोल पंप पर भी मोनू को ले जाया जाएगा। वहां तमाम बिंदुओं का बारीकी से परीक्षण होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *