Gonda Dhanepur News:प्रधानी चुनाव जीतने के लिए खेला गया था फर्जी वोटरों का खेल, बी.एल.ओ. ने भेजा रिपोर्ट

रिपोर्टर-उमापति गुप्ता

मतदाता सूची की जाँच के बाद बी.एल.ओ द्वारा किया गया बड़ा खुलासा

प्रधान अथवा बी.एल.ओ की मिली भगत से फर्जी वोटरों से चुनाव में कराया गया था मतदान

विवाह हो जाने के कई वर्ष बाद भी मतदाता सूची में शामिल है 80 लड़कियों के नाम

98 मतदाता ऐसे भी सूची में अंकित हैं जिनकी कई वर्ष पूर्व हो चुकी है मृत्यु

मुजेहना ,गोण्डा ।प्रधानी का चुनाव जीतने के लिए तत्कालीन ग्राम प्रधान अथवा बी.एल.ओ की मिली भगत से फर्जी वोटरों से चुनाव में मतदान कराया गया था।जिसका खुलासा अब मतदाता सूची की जाँच के बाद बी.एल.ओ द्वारा किया गया है।जिसकी रिपोर्ट जिलानिर्वाचन अधिकारी,जिलाधिकारी, उपजिला निर्वाचन अधिकारी,उपजिलाधिकारी तथा राज्य निर्वाचन आयोग को भेजी गयी है।शिकायत में उल्लेख किया गया है।कि ग्राम पंचायत मतवरिया के तत्कालीन ग्राम प्रधान व बी.एल.ओ की मिली भगत से लगभग दो सौ ऐसे मतदाताओं का नाम सूची में दर्ज करवाकर मतदान कराया गया है।जो कई अन्य ग्राम पंचायतों की मतदाता सूची में भी दर्ज पाये गए हैं।जिनमे ग्राम पंचायत दुल्हापुर, विद्यानगर,सिधौली बुजुर्ग,पूरे तेंदुआ,पूरे सबसुख तथा ग्राम पंचायत मुजेहना के दौ सौ ऐसे मतदाता हैं जो उक्त ग्राम पंचायतों के वोटर होने के साथ साथ मतवरिया की वोटर लिस्ट में भी दर्ज पाये गए हैं।यही नहीं मतवरिया की मतदाता सूची में 18 से 20 नाम ऐसे दर्ज हैं जो अलग अलग क्रमांक संख्या में अंकित है।इसके अलावा 98 ऐसे मतदाता भी सूची में अंकित हैं जिनकी मृत्यु कई वर्ष पहले हो चुकी है।तथा 80 लड़कियों के नाम जिनका विवाह हो जाने के कई वर्ष बाद भी मतदाता सूची में शामिल हैं।इसके अलावा 95 ऐसे मतदाताओं के नाम मतवरिया की मतदाता सूची में अंकित हैं जिनका कोई अता पता नही है।केवल नाम दर्ज करा रखा है।इस फर्जीवाड़े का सम्पूर्ण विवरण साक्ष्य साहित रिपोर्ट जिला निर्वाचन एवं राज्य निर्वाचन आयोग की भेज कर फर्जी वोटरों को सूची से हटवाए जाने तथा तत्कालीन बी.एल.ओ शंकर दयाल व ग्राम प्रधान अरविन्द कुमार उर्फ गब्बर पुत्र गया प्रसाद के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही किये जाने की मांग ग्रामीणों द्वारा की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *