Lakhimpur- Kheri-News:नगर पालिका परिषद को नही मालूम कि कहाँ हैं उनके 28 तालाब -गंभीर जलसंकट की आशंका

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर-खीरी। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पूरी दुनिया के वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने हेतु अनुसंधान करने मे लगे हैं और शीघ्र ही इस गंभीर बीमारी को जन्म देने वाले वायरस को समाप्त करने मे सफलता हासिल होगी, ऐसी उम्मीद है। परन्तु इसके पश्चात् भविष्य मे उत्पन्न होने वाले जल संकट जिसके बारे मे देश की सर्वोच्च अदालत ने वर्ष 2000 में चिंता व्यक्त करते हुए देश की राज्य सरकारों को इस आशय के आदेश जारी किये थे कि देश को जल संकट से बचाने के लिए देश के राज्यों की सरकारें, प्राकृतिक जल श्रोतों जैसे तालाब कुएं, झीलें हिल टापुओं सहित जल के अन्य प्राकृतिक श्रोतों को पाटने और उनका अस्तित्व समाप्त करने मे लगे लोगों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करें तथा उन्हे पाटने से बचाए। 

आज देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी इस संकट से बचने के लिए तमाम प्रचार माध्यमों से देश की जनता को यह संदेश प्रासारित करके उससे बूंद-बूंद पानी बचाने की अपील करते हुए देखे गए हैं, परन्तु देश एवं प्रदेश की व्यवस्था को चलाने वाले अधिकारियों को न तो देश की शीर्ष अदालत का आदेश दिखाई दिया और न ही प्रधानमंत्री की अपील सुनाई दी। जिसके चलते देश के तमाम प्राकृतिक श्रोतों का अस्तित्व ही समाप्त कर दिया गया और आज भी किया जा रहा है। इस गंभीर संकट को रोकने के लिए प्रदेश की सरकारें क्या कुछ कर रही हैं, यह समझने के लिए उ0प्र0 के जनपद खीरी का सर्वेक्षण किया गया। जनपद खीरी तमाम वन सम्पना से आच्छादित करने वाला प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है।

सर्वप्रथम प्रेस ने जिला मुख्यालय लखीमपुर का जायजा लिया और यहां के सैकड़ों वर्ष पुराने राजस्व तालाबों एवं जल श्रोतों की जानकारी सूचना का अधिकार अधि0 2005 के अंतर्गत नगर लखीमपुर की नगर पालिका परिषद के अधिशाषी अधिकारी सहित जिले के राजस्व अधिकारियों ने पहले तो बताया कि उनके पास तालाबों के विषय मे कोई जानकारी नही है, परंतु बाद मे सूचना आयोग के हस्तक्षेप के बाद पहले तो नगर पालिका परिषद मे 28 तालाबों की एक लिस्ट यह कहते हुए पत्रांक सं0 18/सूचना का अधिकार-सूचना/स्टेनो-07 दिनांक 17 दिसम्बर 2017 द्वारा की तालाबों की स्थिति के विषय मे उन्हे कोई जानकारी नही है। यद्यपि नगर पालिका परिषदद्वारा उपलब्ध करायी गयी लिस्ट मे राजस्व तालाबों के गाटासं0 एवं उनके क्षेत्रफल अंकित हैं और नगर के सभी तालाब नगर के विभिन्न मोहल्लों मे स्थित दर्शाए गए है। नगर पालिका परिषदद्वारा उक्त अधिनियम के आधार पर उपलब्ध करवायी गयी लिस्टा कार्यालय न0पा0प0 लखीमपुर खीरी के लेटर हैड पर अंकित की गई है जिस पर कार्यालय नगर पालिका परिषद की मोहर लगी है….क्रमशः

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *