Gonda News:कोविड-19 संक्रमण के चलते कजरी तीज के अवसर पर बन्द रहेंगे मंदिरों के कपाट, नहीं होगा जलाभिषेक

महंतों ने की श्रद्धालुओं से अपने-अपने घरों में रहकर पूजा-अर्चना करने की अपील, घाटों पर रहेगा पूर्ण प्रतिबंध
राम नरायन जायसवाल
गोण्डा। आगामी 9 सितंबर को पड़ रही हरतालिका कजरीतीज पर्व के अवसर पर कोविड-19 संक्रमण के चलते इस वर्ष भी शिवालयों में जलाभिषेक नहीं होगा। इसको लेकर डीएम की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बाबा पृथ्वीनाथ मन्दिर व दुखहरणनाथ मन्दिर के महंत तथा जिले के अन्य प्रमुख शिवालयों के महंतो के साथ वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक आयोजित हुई जिसमें सर्वसम्मति से कजरीतीज के अवसर पर जनपद के समस्त शिवालयों पर जलाभिषेक पूरी तरह प्रतिबन्धित रखने का निर्णय लिया गया।
           इस अवसर पर पृथ्वानाथ मन्दिर व दुखहरण नाथ मन्दिर के महंत ने अपील करते हुए कहा कि चूंकि कोविड-19 की तीसरी लहर की प्रबल संभावना सितंबर व अक्टूबर माह में व्यक्त की गई तथा तीसरी लहर में बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की भी आशंका व्यक्त की गई है। देश के वर्तमान में कोरोना के केसेज भी बढ़ रहे हैं, ऐसे ने जनहित को ध्यान में रखते हुए विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी कजरीतीज पर्व के अवसर पर शिवालय पूरी तरह से बन्द रहेगें तथा किसी भी दशा में जलाभिषेक नहीं होगा। उन्होंनें श्रद्धालुओं से अपील की है कि वे अपने-अपने घरों में रहकर पूजा-अर्चना करें।
         बैठक में जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही  ने एसडीएम व सीओ करनैलगंज को निर्देशित किया कि वे करनैलगंज कटरा घाट पर बैरीकेटिंग लगाकर घाट पर जाने वाले मार्ग को पूरी तरह से बन्द कर दें तथा श्रद्धालुओं को इस बारे में बताएं कि कोविड-19 संक्रमण के चलते इस वर्ष मन्दिरों में जलाभिषेक नहीं होगा, इसलिए घाट से जल नहीं लेने दिया जाएगा। पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे जिले के सभी एंट्री प्वाइंट पर बैरिकेडिंग लगाएं तथा जलाभिषेक के लिए जल लेने के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं को वापस भेंजे। उन्होंने एएसपी को निर्देशित किया कि जनपद की सीमावर्ती जनपदों के पुलिस थानों को भी इस बारे में सूचना दें दें जलाभिषेक न होने की सूचना से बाहर के जनपदों के श्रद्धालु अवगत हो सकें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जनपद के सभी थानों व प्रमुख स्थलों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से भी शिवालयों मेें जलाज्ञिभषेक न होने की सूचना का बार-बार प्रसारण कराते रहें ताकि श्रद्धालुओं को समय रहते इसकी जानकारी मिल सके। इसके अलावा राजस्व विभाग के लेखपालों व पंचायत सचिवों के माध्यम से ग्राम प्रधानों को इस बारे में मेसेज कराया जाय कि इस बार भी कोविड संक्रमण के कारण कजरी तीज के अवसर पर जलाभिषेक नहीं होगा। उन्होंने ग्राम प्रधानों से भी अपील की है कि वे अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों में यह संदेश जनहित में ज्यादा से ज्यादा से प्रसारित करें कि कजरी तीज पर्व के अवसर पर मंदिरों में जलाभिषेक नहीं होगा, तथा श्रद्धालु अपने-अपने घरों में रहकर पूजा-अर्चना करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *