Lakhimpur kheri news:पचपेड़ी घाट पुल के निर्माण का मामला हाईकोर्ट पहुँचा

समाजसेवी राजीव गुप्ता की जनहित याचिका पर सुनवाई  शुरू
एन.के.मिश्रा
लखीमपुर खीरी। जनपद की मुख्य समस्या लखीमपुर और निघासन क्षेत्र के बीच में शारदा नदी पर पचपेड़ी घाट पुल के निर्माण पर देरी होने का कारण हाईकोर्ट लखनऊ में एक जनहित याचिका दाखिल  कर राज्य सरकार के 4 अधिकारी को मुख्य विपक्षी पार्टी बनाते हुए तीन दर्जन प्रति के आदेश न्यायाधीश के सामने रक्खे गए है हाईकोर्ट के न्यायाधीश के के माध्यम से राजीव गुप्ता ने पूछा है आख़िरकार पचपेड़ी घाट पुल निर्माण में देरी का कारण क्या है  ।
 निघासन क्षेत्र के समाजसेवी और प्रसपा प्रदेश महासचिव राजीव गुप्ता (तिकुनिया )ने हाईकोर्ट में एक और जनहित याचिका दाखिल कर लोक निर्माण विभाग के द्वारा बेलराया -पनवारी राज्य मार्ग में  निघासन -लखीमपुर के बीच शारदा नदी में बीच 7 km खादर एवं नदी होने के कारण भी पचपेड़ी घाट पुल निर्माण ना होने की शिकायत एक जनहित याचिका राजीव गुप्ता की ओर से अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह ने दाखिल कर की ।राजीव गुप्ता के अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह ने न्यायाधीश श्री रितुराज अवस्थी एवं न्यायाधीश मोईन ख़ान को बताया कि यह जनहित याचिका दाखिल करने का औचित्य 10 लाख आवादी से जुड़ी होने के कारण है ।जनहित याचिका में न्यायाधीश को बताया गया की शारदा नदी में फूलबहड और निघासन के हिस्से में बड़े पैमाने पर कटान को रोकने के लिए लाखों रुपए खर्च कर के शारदा नदी पर 5 कीE लम्बा पुल निर्माण करने का प्रोजेक्ट बना था जिस में सारी रिपोर्ट नदी और ज़मीन के खादर की सब अधिकारियों ने तैयार की थी सभी रिपोर्ट पास्टिव आने के बाद 131 पिलर पर पुल निर्माण का प्रोजेक्ट बना था 131 पिलर 5 km पर बना कर पुल निर्माण के साथ फूलबेहड़ की तरफ़ 3.85 किलोमीटर की एप्रोच एवं निघासन की तरफ़ 2 km एप्रोच बनाई जाने का प्रोजेक्ट इंजीनियर ने बनाया सभी तथ्य उच्च न्यायालय की पीठ के सामने राजीव गुप्ता के अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह ने पेश किए ।
न्यायाधीश रितुराज अवस्थी एवं मोईन खान को यह भी बताया गया की 14 साल में निघाशन क्षेत्र आर्थिक रूप से उन्नति करे गा एवं यह प्रोजेक्ट केबिनेट से मंज़ूर है लेकिन राजनीतिक नफ़ा और नुक़सान को देखते हुए फ़ाइल कहा है किसी को कोई मालूम नही है जब की यह पुल निर्माण से 18 km का रास्ता निघासन की जनता के लिए पास हो जाए गा
दलील दी गई है विहार ,उत्तर प्रदेश ,उतरांचल में फ़ोर लेन रोड प्रस्तावित है जो बेलराया पनवारी राज्य मार्ग पर आवागमन होने से पुल की ज़रूरत है इस का भी दस्तावेज लगाया गया है
न्यायाधीश ने राज्य सरकार के मुख्य स्थाई अधिवक्ता से पूछा बताइए उन्हो ने कहा कि राज्य याचिका में अपर मुख्य सचिव लोनिवि ,विभागाध्यक्ष लोनिवि,ज़िलाधिकारी खीरी ,बर्ड बैंक के मुख्य अभियंता को मुख्य विपक्षी पार्टी बनाया गया है उन की सभी नोटिस को स्वीकार किया जाता है और तीन सप्ताह का समय माँगा गया है न्यायाधीश में तीन सप्ताह में पचपेड़ी घाट पुल निर्माण में देरी पर जबाब माँगा है।
राजीव गुप्ता ने उच्च न्यायालय को बताया की मै एक आम आदमी हूँ इस लिए जनहित याचिका दाखिल की है मै सांसद,विधायक नही हूँ ना ही राजीव गुप्ता ने जनता से वादा किया है आम आदमी होने के कारण न्यायालय आया हूँ । तत्कालीन डीएम मनीष चौहान ने भी इस प्रोजेक्ट को स्वीकृति देंने की संस्तुति की थी ।
प्रसपा प्रदेश महासचिव राजीव गुप्ता ने कहा कि जनता चाहती है की पुल निर्माण हो लेकिन कोई जनप्रतिनिधि प्रयास नही कर रहा है। दस लाख की आबादी सीधी प्रभावित हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *