Gonda Colonelganj News:धान खरीद न होने से झल्लाये किसानों का गुस्सा अब गन्ने की तरफ पर्ची व घटतौली से परेशान मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

करनैलगंज,गोण्डा । धान खरीद न होने से झल्लाये किसानों का गुस्सा अब गन्ने की तरफ मुड़ गया है। गन्ने की पर्ची या न मिलने से मायूस किसानों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर आंदोलन की चेतावनी दी है।

भारतीय किसान यूनियन भानु गुट के प्रदेश मुख्य संगठन मंत्री गजराज सिंह, जिला प्रभारी राजेश कुमार सिंह, सुरजीत सिंह, जेपी उर्फ खन्नू मिश्रा, रोहित प्रताप सिंह, माधव सिंह, पिंकी वर्मा आदि ने मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में कहा है कि एक तरफ किसान धान की अपनी उपज को नहीं बेंच सका है। धान क्रय केंद्र केवल नाम के खुले हैं। जहां किसानों का धान नहीं खरीदा गया और व्यापारियों का धान खरीद कर कोरम पूरा किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ गन्ना खरीद के लिए चीनी मिल द्वारा मनमानी की जा रही है।

केंद्रों पर घटतौली एवं समय से गन्ना पर्ची न मिलने से किसानों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। गन्ना समितियों से लेकर चीनी मिलों तक अधिकारी कर्मचारी किसानों की बात सुनने को तैयार नहीं है।

25 फ़ीसदी किसानों का गन्ना सर्वे ही नहीं किया गया है और सर्वे के लिए प्रार्थना पत्र दिए गए मगर कामदार द्वारा गन्ने का सर्वे फीड नहीं कराया जा रहा है। इसके अलावा जिन किसानों का गन्ना सर्वे हो चुका है उनके नाम की पर्चियां नहीं मिल रही है। जिससे खेतों में खड़े गन्ने को लेकर किसानों के लिए बेहद चिंताजनक बनी हुई है।

किसानों का कहना है कि गन्ना माफियाओं द्वारा खेतों में दूसरी फसल बोई गई है और पर्ची के आधार पर गन्ने को सस्ते दाम पर खरीदने के लिए और बिक्री करने के लिए गन्ने का सर्वे दिखाकर पर्ची मंगाई जा रही है। इस तरीके से गन्ना के माफियाओं की पर्चियां लगातार आ रही है और किसान पर्ची के लिए समितियों का चक्कर काट रहा है।

किसानों का कहना है कि यदि समस्या का समाधान नहीं किया गया तो किसान यूनियन के पदाधिकारी आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। जिसके लिए जिला प्रशासन की जवाबदेही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *