Gonda Colonelganj News: पसका एसिड अटैक काण्ड में आरोपी युवक के इनकाउंटर को लेकर 250 व्यापारियों ने मुख्यमंत्री से उच्चस्तरीय जांंच कराने की मांंग

पसका एसिड अटैक काण्ड में आरोपी युवक के इनकाउंटर को लेकर दो सौ पचास व्यापारियों ने मुख्यमंत्री को मांग पत्र भेज मामले में सीबीआई अथवा विशेष टीम गठित कर जांच कराने की मांग 

 करनैलगंज,गोण्डा । थाना परसपुर क्षेत्र के पसका गांव में एसिड अटैक के मामले को लेकर पुलिस द्वारा आरोपित युवक के एनकाउंटर के विरोध में पसका के 250 व्यापारियों ने पुलिस की कार्रवाई पर संदेह जाहिर करते हुए एनकाउंटर को फर्जी करार देते हुए पूरे मामले की सीबीआई अथवा विशेष टीम गठित कर मजिस्ट्रेट स्तर की जांच कराने की मांग की गई है। 

पसका वासियों ने मुख्यमंत्री मुख्य सचिव सहित डेढ़ दर्जन अधिकारियों को मांग पत्र भेजा है। मांग पत्र में कहा गया है कि 12 अक्टूबर की रात पसका क्षेत्र में एसिड अटैक की हृदय विदारक घटना घटित हुई। जिसके प्रति पूरे क्षेत्र वासियों को पीड़ित परिवार के साथ संवेदना है। ग्रामीणों का कहना है कि मामले में पुलिस की सक्रियता भी सराहनीय रही मगर निस्तारण के लिए पुलिस द्वारा की गई जल्दबाजी में संदिग्ध कार्रवाई लोगों को हजम नहीं हो रही है। मांग पत्र में कहा गया है कि घटना के दोषियों पर कड़ी कार्रवाई आवश्यक है। मगर जिस तरह आशीष जायसवाल को आरोपी बनाया बना कर उसके एनकाउंटर की कहानी बनाई गई और फर्जी मुठभेड़ दिखाया गया वह संदेहास्पद है। जबकि आशीष का कोई अपराधिक इतिहास नहीं है उसके सगे संबंधियों कभी कोई दूर-दूर तक अपराधों से लेना देना नहीं है। क्षेत्रीय पुलिस और घटना में किसी साजिश के तहत कार्रवाई कर रही है। जिससे क्षेत्रवासियों में असंतोष व्याप्त है। मांग पत्र में कहा गया है कि पूरे घटनाक्रम की न्याय हित में सीबीआई जांच कराई जाए अथवा मजिस्ट्रेट अख्तर की टीम गठित कर जांच हो जिससे निर्देश निर्दोष व्यक्ति को किसी अपराध में गलत तरीके से फंसाया जाने का पर्दाफाश किया जाए। पूरे मांग पत्र पर 250 व्यापारियों एवं ग्रामीणों के हस्ताक्षर हैं। जिसमें यह भी कहा गया है कि यदि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच नहीं कराई जाती है तो शासन के प्रति जनता के मन में नकारात्मक विचार के साथ साथ असंतोष बना रहेगा और लोग आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।
व्यवसायियों ने यह भी बताया है कि जिस मोटरसाइकिल को पुलिस आरोपी के पास इनकाउंटर में बरामद दिखा रही है उसी मोटर साइकिल को इनकाउंटर के पहले उसके भाई को बैठा कर पुलिस घूम रही थी। 

आरोपी की मां की मांग बेटा निर्देश हो उच्च स्तरीय जांच  

 पुलिस द्वारा घटना के पर्दाफाश में आरोपी बनाए गए आशीष जयसवाल उर्फ छोटू 18 वर्ष के एनकाउंटर को लेकर आरोपी की मां ने पुलिस की कार्रवाई को फर्जी करार देते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है। आशीष की मां ने मुख्यमंत्री सहित तमाम अधिकारियों को भेजे गए प्रार्थना पत्र में कहा है कि उसका पुत्र निर्दोष है। उसका पुत्र उनकी पुत्री रेखा के घर विशेश्वरगंज बहराइच गया था और वह वापस आ रहा था। रास्ते में आर्य नगर कुकुर भुकवा के पास पुलिस ने उसे पकड़ लिया और उसकी मोटरसाइकिल कब्जे में ले लिया। यह घटना दिन में करीब 2 बजे के आसपास की है। उसके बाद उसे पकड़कर सोनवारा कोतवाली करनैलगंज क्षेत्र में लेकर आई। जहां रात में साढ़े आठ बजे फर्जी मुठभेड़ दिखाकर पसका के एसिड अटैक मामले में उसे फंसा दिया गया। पीड़ित की मां ने मुख्यमंत्री से एसआईटी या सीबीआई की जांच कराने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *