Lakhimpur Kheri News:मितौली के ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे टीमों की क्रियाशीलता को देखने पहुंचे नोडल अधिकारी

नोडल अधिकारी ने ग्राम मिर्जापुर व अमघट का किया निरीक्षण, जाना हाल

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी । नोडल अधिकारी/आयुक्त, लखनऊ मंडल-लखनऊ रंजन कुमार ने डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के साथ तहसील मितौली के ग्राम मिर्जापुर व ग्राम अमघट में डोर टू डोर सर्वे की पड़ताल कर जमीनी हकीकत जानी।

सर्वप्रथम नोडल अधिकारी ने तहसील मितौली के ग्राम मिर्जापुर पहुंचे। जहां सर्वे टीमों के कार्यो का स्थलीय सत्यापन कर हाउस टू हाउस सर्वे कर रही टीम के कार्यो को देखा। आशा कार्यकत्री ऊषा देवी व सुलोचना से सर्वे किये घरों की संख्या व उनमें मिले सिम्प्टोमैटिक का विवरण, मेंडिकल किट की वितरण व उपलब्धता जानी। सर्वे में सिम्प्टोमैटिक मिली चंपा देवी, रुपावती से बातचीत कर उनका कुशल क्षेम जाना।

इसके बाद नोडल अधिकारी ने तहसील मितौली के ग्राम अमघट पहुंचकर आशा संगिनी सुनीता देवी एवं पिंकी देवी से सर्वे की जानकारी की। सर्वे टीम ने बताया कि उनके पास पर्याप्त मात्रा में मेडिकल किट उपलब्ध है। वही 110 ग्रामीणों का वैक्सीनेशन हो चुका है। शेष ग्रामीणों का भी वैक्सीनेशन कराया जा रहा। नोडल अधिकारी ने कहा कि ग्रामीणों को स्वस्थ रखना प्रधान की नैतिक जिम्मेदारी हैं। नोडल अधिकारी ने मौजूद ग्रामीणों से बातचीत कर जाना कि उनके गांव में कोई गंभीर बीमार तो नहीं है। इस दौरान उन्होंने वैक्सीन के फायदे बताये।

*नोडल अधिकारी ने किया सीएचसी रमियाबेहड़ का औचक निरीक्षण, दिए निर्देश*

तहसील मितौली की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेहजम का औचक निरीक्षण कर चिकित्सकीय व्यवस्थाओं की पड़ताल की। वैक्सीनेशन टीम ने नोडल अधिकारी के पूछने पर बताया कि आज 60 लोगों (दस को फर्स्ट डोज व पचास व्यक्तियो को सेकंड डोज) का वैक्सीनेशन हुआ।

इस दौरान नोडल अधिकारी ने कोल्ड चैन कक्ष, प्रसव कक्ष, टीकाकरण कक्ष, ऑब्सर्वेशन कक्ष सहित पूरे परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधीक्षक से दवाओं, मेडिकल किट की उपलब्धता जानी। सभी 04 गठित रैपिड रिस्पॉस टीम का मूवमेंट व प्रतिदिन होने वाले आरटीपीसीआर व एंटीजन सैंपलिंग की संख्या जानी। एमओआईसी डॉ अनिल ने बताया कि वर्तमान में 45 लोग होम आइसोलेशन में है, जिनकी बराबर निगरानी की जा रही।

इस दौरान उन्होंने अधीक्षक कक्ष में विभिन्न पंजिकाओं का अवलोकन कर संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने एमओआईसी से पूछा वह स्वयं दिन में कितने संक्रमित मरीजों से बातचीत कर हाल-चाल जानते हैं। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग, टेस्टिंग, ट्रीटमेंट एवं वैक्सीनेशन पर फोकस करें। हर सिंप्टोमेटिक व्यक्ति को मेडिकल किट मुहैया कराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *