Gonda News:समयावधि पूर्ण हो जाने के बाद अपने ही रकम की निकासी के लिए उपभोक्ता लगा रहा डाकघर का चक्कर

रिपोर्टर- उमापति गुप्ता

गोण्डा ।सरकार ने कोरोना काल में डाक सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए जहां एक तरफ,तरह तरह की सुविधाओं से जनता को इसलिए जोड़ने का काम किया ताकि विभाग से जनता को जमा निकासी सहित अन्य सेवाओं में सहूलियत मिल सके।परन्तु धानेपुर थानाक्षेत्र के श्रीनगर बाबागंज के डाक घर का एक ऐसा प्रकरण सामने आया है।

जिसके मुताबिक एक किसान अपने ही एफडी की रकम निकासी के लिए डाक घर के चक्कर काटने को विवश है।पूरे लेदई पोस्ट बखरवा के रहने वाले कृष्णा नन्द तिवारी पुत्र जगदीश दत्त तिवारी ने वर्ष 2015 में एफडी खरीदा था।जिसकी समयावधि पूर्ण होने पर उक्त के द्वारा अब अपनी ही बचत राशि की निकासी के लिए डाक घर का चक्कर काटना पड़ रहा है।बताते चलें की डाक घर बाबागंज की शाखा के कर्मचारियों की वजह से अथवा टेक्निकल समस्या के चलते उपभोक्ता द्वारा खरीदा राष्ट्रीय बचत पत्र की कम्प्यूटर में फीडिंग नही हो पाई थी।इसलिए अब समयावधि पूर्ण होने के बाद भुगतान में समस्या खड़ी हो रही है।इसे विभागीय लापरवाही कहें या टेक्निकल समस्या लेकिन इसका खामियाजा अब उपभोक्ता को डाकघर के चक्कर काटकर भुगतना पड़ रहा है ।जिससे तंग कृषक उपभोक्ता द्वारा दिनांक 30/09/2020 को डाक अधीक्षक से भी भुगतान कराये जाने के सम्बन्ध में प्रार्थना पत्र दिया गया।लेकिन उसके बावजूद भी उपभोक्ता अपनी बचत राशि जरूरत पड़ने पर प्राप्त नही कर पा रहा है।

इस सम्बन्ध में डाक कर्मचारी संघ के राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी रामानन्द तिवारी ने बताया कि किसी उपभोक्ता को अपने ही रकम के लिए डाकघर के चक्कर काटने का यह प्रकरण बहुत ही दुर्भाग्य पूर्ण है।उन्होंने उच्च अधिकारियों से इस सम्बन्ध में अवगत कराने की बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *