Gonda News:छपिया के घनश्यामपुर में पंचायत अध्यक्ष ने वट सावित्री पूर्णिमा पर पंचायत भवन व शमशान पर पौधे रोप लिया पर्यावरण बचाने का संकल्प

वटवृक्ष के पौधे रोपकर लिया पर्यावरण बचाने का संकल्प

संजय यादव

गोण्डा । वट सावित्री पूर्णिमा के अवसर पर विकास खण्ड छपिया के घनश्यामपुरग्रांट मे प्रधान ने पंचायत भवन घनश्यामपुरग्रांट व शमशान घाट पर वरगद, पीपल, पाकड, नीम का पौधारोपण किया ।

प्रधान अतीता नन्द त्रिपाठी उर्फ पहलवान त्रिपाठी ने पौधा रोपण करते हुये कहा कि भारतीय संस्कृति में इसका महत्वपूर्ण स्थान है। यह सांसों के लिए प्राण वायु देने वाला है। ज्येष्ठ की अमावस्या के दिन महिलाएं वट सावित्री व्रत रखकर पति के दीर्घायु होने की प्रार्थना करती हैं। पीपल, नीम, तुलसी, शमी, केला आदि की पूजा हिंदू धर्म में की जाती है, लेकिन इसमें बरगद के पेड़ का काफी महत्व है।

प्रधान श्री त्रिपाठी ने पौधा लगाने के साथ ही पौधे के पेड़ बनने तक जिम्मेदारी भी ली।उन्होने बताया कि बरगद का पेड आक्सीजन देने वाले पेड़ों में दूसरे स्थान पर है। बरगद, पीपल, आदि पेड़ों की जड़ें भूमि में सीधी नीचे तक फैली होती है। जड़े भूजल को बरकरार रखने के लिए सहायक होती है। आक्सीजन बनाने का काम पेड़ की पत्तियां करती हैं जो एक घंटे में पांच मिलीलीटर आक्सीजन बनाती हैं। इसलिए जिस पेड़ में ज्यादा पत्तियां होती हैं वह पेड़ सबसे ज्यादा आक्सीजन बनाता है। बरगद का पेड़ अन्य पेड़ों के मुकाबले ज्यादा आक्सीजन देता हैं।

इस अवसर पर राम बहादुर वर्मा, रामलाल, मदन लाल, गंगा सागर जयसवाल एडवोकेट , महेन्द्र प्रताप सिंह,राहुल पाण्डेय, मनीष शर्मा,रजनीश पाण्डेय जी सहित तमाम ग्रामवासी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *