Gonda Colonelganj News: दो ग्राम पंचायतों के 10 प्रधान पद के प्रत्याशियों के चुनाव चिन्ह 4 दिन बाद अचानक बदल गए

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

करनैलगंज(गोंडा)। दो ग्राम पंचायतों के 10 प्रधान पद के प्रत्याशियों के चुनाव चिन्ह 4 दिन बाद अचानक बदल गए। चुनाव चिन्ह बदलने की जानकारी होने के बाद प्रत्याशियों के होश फाख्ता हो गए और प्रत्याशियों ने जिलाधिकारी से इसकी शिकायत की। बुधवार की देर रात प्रत्याशियों व उनके समर्थकों ने ब्लॉक मुख्यालय पर करीब 3 घंटे तक जमावड़ा लगाकर बवाल काटा। जिलाधिकारी के निर्देश पर मौके की स्थिति की जांच करने पहुंचे उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी एवं कोतवाल ने प्रत्याशियों को किसी तरीके से मान मनौव्वल कर मनाया और दोबारा आवंटित चुनाव चिन्ह पर लड़ने के लिए तैयार कर लिया। हालांकि रिटर्निंग ऑफिसर ने प्रत्याशियों की ही गलती बताते हुए चुनाव चिन्ह की संशोधित सूची न ले जाने की बात कही है। वहीं प्रत्याशियों ने चुनाव अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए चौथे दिन उनका चुनाव चिन्ह पुरानी तारीख में बदले जाने का आरोप लगाया है। विकास खंड करनैलगंज की ग्राम पंचायत नरायनपुर माझा में प्रधान पद के प्रत्याशी राजू यादव ने कहा है कि उन्हें पहले 6 नंबर पर कैमरा चुनाव चिन्ह दिया गया था और बुधवार को शाम करीब साढे 6 बजे रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा फोन पर बताया गया कि आप का चुनाव चिन्ह बदल गया है। ब्लॉक में आकर संपर्क करें। जब वहां संपर्क किया गया तो उसे सात नंबर पर करके कैरम बोर्ड चुनाव चिन्ह दिया गया। इसी तरह 8 नंबर पर दर्ज रतनदीप पांडेय ने बताया कि पहले उन्हें कोट चुनाव चिन्ह दिया गया था और बुधवार शाम को फोन करके उन्हें बुलाया गया और उनका चुनाव चिन्ह बदलकर कैमरा दे दिया गया। यहां राजेश्वरी को पहले कैरम बोर्ड का चुनाव चिन्ह दिया गया था। जिन्हें अब चुनाव चिन्ह कोट दिया गया। इसी तरह विकासखंड करनैलगंज की ग्राम पंचायत करुआ के प्रत्याशी रघुनाथ प्रसाद गोस्वामी का आरोप है कि उन्हें चुनाव चिन्ह आवंटन के दिन नौ नंबर पर खड़ाऊं चुनाव चिन्ह दिया गया था। जिन्हें बुधवार को बुलाकर चुनाव चिन्ह बदल दिया गया और उन्हें कैमरा चुनाव चिन्ह दिया गया। इसी तरह राजपाल का आरोप है कि उन्हें पहले सात नंबर पर कैरम बोर्ड चुनाव चिन्ह दिया गया था अब उन्हें आठ नंबर पर करके कोट चुनाव चिन्ह दिया गया है। ग्राम पंचायत में राम कुमार गोस्वामी, रामकिशुन, सुधीर कुमार, सुरेंद्र कुमार एवं संतोष कुमारी के भी चुनाव चिन्ह बदले गए हैं। चुनाव चिन्ह बदले जाने के बाद जब उन्हें चुनाव अधिकारी द्वारा सूचना दी गई तो उनके होश उड़ गए। देर शाम सभी प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ ब्लॉक मुख्यालय पर पहुंचे। जिसकी सूचना पुलिस को मिली तो ब्लॉक मुख्यालय पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। उसके बाद कोतवाल ने सभी प्रत्याशियों से जानकारी लेने के बाद उच्च अधिकारियों को अवगत कराया। जिस पर जिलाधिकारी के निर्देश पर उपजिलाधिकारी शत्रुघ्न पाठक एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी मुन्ना उपाध्याय ब्लॉक मुख्यालय पहुंचे और सभी प्रत्याशियों का मान मनौव्वल शुरू किया। रात्रि करीब 11 बजे अधिकारियों ने बदले हुए चुनाव चिन्ह पर प्रत्याशियों को नए चुनाव चिन्ह का प्रचार प्रसार करने के लिए वाहन पास व अन्य सुविधाएं देने का वादा करके मनाया। आरओ विकास पाठक ने बताया कि चुनाव चिन्ह आवंटन के दिन अल्फाबेट के मुताबिक सूची तैयार करने में त्रुटि हो गई थी। उसी दिन पहले जो चुनाव चिन्ह दिया गया उसे लेकर प्रत्याशी चले गए। दोबारा संशोधित सूची जारी की गई जिसकी जानकारी प्रत्याशियों को नहीं हो पाई थी। बाद में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। उप जिलाधिकारी शत्रुघ्न पाठक ने बताया कि मात्रात्मक त्रुटियां हुई थी और सिंबल वितरण के दिन पहले जो सूची जारी की गई उसमें त्रुटि होने के कारण दूसरी संशोधित सूची जारी की गई जो प्राप्त करने में प्रत्याशियों ने विलंब किया है। जिन्हें समझाबुझाकर भेजा गया। तथा कम समय मे सिंबल प्रचार के लिए वाहन पास देने की बात पर सहमति बनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *