Gonda News:एक सप्ताह पूर्व पुजारी पर हुए हमले में राम जानकी मंदिर के महन्त को एस ओजी ने किया गिरफ्तार

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा।  जिले के इटियाथोक कोतवाली क्षेत्र के तिर्रे मनोरमा में स्थित राम जानकी मंदिर के पुजारी सम्राट बाबा पर गोलियों से  हुए हमले के मामले में शुक्रवार देर रात को एसओजी ने मुख्य मंहत सीताराम दास को उठा लिया है। पुजारी का अभी लखनऊ में इलाज चल रहा है पुजारी को उठाये जाने से घटना कर में नया मोड़ आ गया है पुलिस की माने तो महन्त ने खुद कराया था हमला अपने विरोधियों को फंसाने के लिए। 

बताते चले कि मनोरमा उद्गम स्थल पर स्थित राम जानकी मंदिर पर पुजारी पर हुए हमले की पुलिस की किरकरी भी खुब हुई थी मौके पर पहुंचे साधु सन्तो ने डीएम एसपी सांसद विधायक को हरामखोरी का भी आरोप लगाया था। लेकिन  शुक्रवार देर रात शहर के बड़गांव के पास  एसओजी ने यह कार्रवाई अंजाम दी है। कुछ दिन पहले 11 अक्टूबर को  मंदिर के पुजारी को उस वक्त गोली मार दी गई थी जब वे मंदिर परिसर में सो रहे थे।इस घटना में चार लोगों को नामजद मुलजिम महन्त ने बनाया था।  इस घटना के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने नामजद आरोपियों में से दो को गिरफ्तार कर लिया था। दो अब भी फरार बताये जा रहे मौजूदा थाना प्रभारी के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए महन्त ने एक आडियो वायरल की थी जिसमें सांसद के इशारे पर घटना को इनजाम दिने का आरोप लगाया था। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार विवेचना के दौरान प्रकाश में आया कि घटना कूट रचित तरीके से अंजाम दी गई थी। इसे लेकर शुक्रवार रात साढ़े नौ बजे के करीब मुख्य मंहत रामदास को एसओजी ने बड़गांव के पास से उठाया है। एएसपी महेन्द्र कुमार ने बताया कि पूरी डिटेल शनिवार को उपलब्ध कराई जाएगी।
 उन्होंने बताया कि जांच में जैसे तथ्य प्रकाश में आए उसके अनुसार कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई अंजाम दी गई है। यह मामला मंदिर की भूमि से जुड़ा हुआ है। मंहत की ओर से चार लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया था।
इसी प्रकरण में इटियोथोक कोतवाली के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार सिंह को केस में लापरवाही बरतने के इल्जाम में लाइन हाजिर कर दिया गया था। तब महंत सीताराम दास ने तत्कालीन एसओ पर कई गंभीर आरोप लगाए थे।
पुलिस आज प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले को पर्त दर पर्त खोल पुलिस के प्रति पैदा हुए अविश्वास का पर्दाफाश करेगी ।
क्या है पूरा मामला 
11 अक्टूबर की रात कुछ लोगों ने राम जानकी मंदिर के पुजारी अतुल बाबा उर्फ सम्राट दास को गोली मार दी थी। गंभीर से घायल होने के कारण उनको लखनऊ रेफर कर दिया गया था। अतुल बाबा उर्फ सम्राट बाबा पिछले दो साल से मंदिर में पूजा पाठ कर रहे थे।बाबा आज भी लखनऊ में भर्ती है और इलाज चल रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *