Lakhimpur Kheri News:ज्ञापन देकर पाठ्य पुस्तकों में स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े गुमनाम महापुरुषों को स्थान देने की मांग

एन.के.मिश्रा

गोला गोकर्णनाथ ( लखीमपुर खीरी)। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ लखीमपुर- खीरी के जिला उपाध्यक्ष डॉ0 सौरभ दीक्षित ने उत्तर प्रदेश सरकार के शिक्षा मंत्री को संबोधित एक ज्ञापन गोला विधायक अरविंद गिरि सौंपते हुए कहा कि देश की आजादी के संघर्ष में अपनी असाधारण वीरता दिखाते हुए प्राणों का बलिदान करने वाले गुमनाम नायकों को आज पाठ्य पुस्तकों में सम्मानजनक स्थान प्रदान किए जाने की आवश्यकता है। देश की आजादी का अमृत महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े तमाम महापुरुषों के प्रति सरकार विभिन्न माध्यमों से सम्मान व्यक्त कर रही है परंतु अभी भी देश में ऐसे तमाम गुमनाम नायक हैं जिनके बारे में आधुनिक पीढ़ी के नौजवान व विद्यार्थी अनभिज्ञ हैं। क्योंकि वामपंथी विचारधारा व अंग्रेजी मानसिकता से ग्रसित तत्कालीन लेखकों ने उन महापुरुषों के महान कार्यों को जानबूझकर यथोचित स्थान पाठ्य पुस्तकों में नहीं दिया। मसलन पीर अली खान, मंगल पांडे, कमलादेवी चट्टोपाध्याय, अवंती बाई लोधी, राव तुलाराम, कुंवर सिंह, रंगा बापूजी गुप्त, रानी चेनम्मा, कनकलता बरूआ, दुर्गावती बोहरा, बीना दास, जसवंत सिंह होलकर, सेनापति बापट,
तारा रानी श्रीवास्तव,
कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी, पोटी श्रीरामुलु, मातंगिनी हजरा एवं धन सिंह कोतवाल जैसे तमाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के जीवन परिचय को कक्षा 6 से 8 तक विद्यालयों में प्रचलित हमारे पूर्वज पुस्तक में स्थान दिए जाने की आवश्यकता है, ताकि आरंभ से ही इनके बारे में पढ़कर निश्चित ही बच्चों के बाल मन-मस्तिष्क पर देश प्रेम की भावना जागृत होगी और इनके असाधारण कार्यों से आज के नौजवान प्रेरणा ले सकेंगे। इस मौके पर संजय त्रिवेदी भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *