Lakhimpur Kheri News:खीरी में संचालित होने वाले सभी रैन बसेरों/ शेल्टर होम की हो रही जियो टैगिंग

निराश्रित, असहाय, कमजोर वर्ग के असुरक्षित व्यक्तियों के बचाव हेतु कंबल वितरण एवं राहत कार्यो के संचालन के संबंध में प्रशासन ने युद्ध स्तर पर शुरू की तैयारियां

ठंड एवं शीतलहर से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के दृष्टिगत प्रशासन ने कसी कमर, एडीएम ने संबंधित अधिकारियों को जारी किए दिशा-निर्देश

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी। वर्ष 2020-21 में ठंड एवं शीतलहर ई से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के दृष्टिगत निराश्रित, असहाय एवं कमजोर वर्ग के असुरक्षित व्यक्तियों के बचाव हेतु कंबल वितरण एवं राहत कार्यो के संचालन के संबंध में डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के निर्देश पर एडीएम (वित्त एवं राजस्व) अरुण कुमार सिंह ने सभी एसडीएम, तहसीलदारों, डीपीआरओ, सभी बीडीओ एवं नगर निकायों के ईओ को निर्देशित किया।


उन्होंने अपर मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन से प्राप्त निर्देशों के अनुपालन में बताया कि प्रदेश में शीत ऋतु का आरंभ सन्निकट है। वैश्विक महामारी कोविड-19 से उत्पन्न स्थिति के दृष्टिगत ठंड एवं शीतलहर से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के कारण निराश्रित,असहाय एवं कमजोर वर्ग के असुरक्षित व्यक्तियों को राहत पहुंचाने हेतु रैन बसेरों/ शेल्टर होम की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने आश्रयहीन व्यक्तियों हेतु रैन बसेरों/ शेल्टर होम की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जिससे कोई भी व्यक्ति रात में सड़क अथवा फुटपाथ पर सोने के लिए बाध्य ना हो। इन रैन बसेरों/शेल्टर होम में रुकने वाले कमजोर वर्ग के लोगों को ठंड से बचाने के लिए आवश्यक समस्त उपाय जैसे- गद्दे, कंबल, स्वच्छ पेयजल, शौचालय एवं किचेन आदि का प्रबंध निशुल्क किया जाए। रैन बसेरों के आसपास अलाव जलाने की व्यवस्था की जाए। प्रत्येक रैन बसेरे के लिए नोडल अधिकारी नामित कर उसे रैन बसेरे के संचालन का उत्तर दायित्व सौंपा जाए। समस्त रैन बसेरों/शेल्टर होम में केयरटेकर भी तैनात किए जाएं। जिनका नाम, पदनाम, मोबाइल नंबर, रैन बसेरे के गेट पर अवश्य दर्शाया जाए। 


उन्होंने बताया कि रैन बसेरों में ऐसे जरूरतमंद व्यक्तियों जिनके पास ठहरने की सुविधा नहीं है तथा विशेष रूप से जो चिकित्सा एवं रोजगार आदि के लिए बाहर से आए हैं। उन्हें खुले में अथवा फुटपाथ एवं सड़कों के डिवाइडर पर ना सोना पड़े। बल्कि निकटवर्ती रैन बसेरे में रहने की पूर्ण सुविधा उपलब्ध कराई जाए। रैन बसेरे में समस्त सुविधाएं अच्छी एवं गुणवत्तापूर्ण हो तथा इसमें साफ-सफाई, साफ-सुथरे बेडशीट कंबल, गर्म पानी तथा सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। रैन बसेरों में भी कोविड-19 के प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

रैन बसेरों को प्रतिदिन अनिवार्य रूप से सैनिटाइज कराया जाए एवं प्रत्येक रैन बसेरे पर सैनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता भी सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि रैन बसेरे में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को निशुल्क मास्क उपलब्ध कराया जाए। रैन बसेरों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन में कठिनाई के दृष्टिगत आवश्यकतानुसार रैन बसेरों की संख्या बढ़ाई जाए। रैन बसेरों/ शेल्टर होम में पुरुषों एवं महिलाओं के सोने वह शौचालय अधिक का अलग-अलग प्रबंध सुनिश्चित किया जाए। शीत लहर के दौरान इसके बचाव हेतु रैन बसेरों के आसपास एवं अन्य सार्वजनिक स्थानों पर समय से पर्याप्त अलाव प्रतिदिन जलवाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रत्येक रैन बसेरा की लोकेशन की जियो टैगिंग एवं फोटोग्राफ्स आपदा प्रहरी ऐप के माध्यम से किया जाना सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *