Gonda News:शिक्षकों से रिश्वतखोरी का मामला उजागर होने पर वजीरगंज खंड शिक्षा अधिकारी निलंबित, एफआईआर दर्ज के निर्देश,बीएसए भी आरोप के घेरे मेंं

जिला अधिकारी ने वसूली के मामले में तीन सदस्यी कमेटी गठित कर मामले को शासन को भेजा
राम नरायन जायसवाल
 गोण्डा।  बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा शिक्षकों के स्थानांतरण पर वजीरगंज के परिषदीय स्कूलों में कार्यरत रहे अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्राप्त करने वाले शिक्षकों से वसूली करने का मामला उजागर होने पर वजीरगंज खंड शिक्षा अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है साथ ही एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश भी दिए गए हैं।
बेसिक शिक्षा परिषद ने शिक्षकों का अंतर जनपदीय स्थानांतरण किया था। यहां 1085 अध्यापकों को इसका लाभ मिला है। स्कूल से लेकर ब्लॉक संसाधन केंद्र व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय से अध्यापकों को कार्यमुक्त आदेश प्राप्त करना था। इसके बाद ही वह स्थानांतरित जिले में कार्यभार ग्रहण कर सकते थे। मंगलवार की देर रात वाट्सएप ग्रुपों पर एक पर्चा वायरल हुआ। इसमें वजीरगंज के परिषदीय स्कूलों में कार्यरत रहे अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्राप्त करने वाले शिक्षकों से वसूले गए धन का हिसाब लिखा हुआ था। एक-एक शिक्षक से दो-दो हजार रुपये वसूले जाने की बात लिखी थी, जिस नंबर से पर्चा वायरल हुआ था। संबंधित अध्यापक शिवशंकर सिंह से अधिकारियों ने बात की। आरोप है कि उन्होंने रुपये वसूलने की बात को सत्य बताया। साथ ही इसमें बीईओ की संलिप्तता की भी पुष्टि की। उक्त कार्य को कर्मचारी नियमावली के विपरीत मानकर खंड शिक्षा अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. इंद्रजीत प्रजापति ने बीईओ के निलंबन की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि नवाबगंज के खंड शिक्षाधिकारी को वजीरगंज का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।
एफ आई आर दर्ज कराने के निर्देश
आर 0 बी 0 सिंह , विशेष सचिव , बेसिक शिक्षा उ 0 प्र 0 शासन , लखनऊ द्वारा दूरभाष पर उक्त प्रकरण में दोषियों के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिये गये है । उक्त के क्रम मे बेसिक शिक्षाधिकारी अवैध धन वसूली के सम्बन्ध में श्रीमती ममता सिंह,निलम्बित खण्ड शिक्षा अधिकारी , वजीरगंज , विपिन श्रीवास्तव लेखाकार एवं शिव शंकर सिंह , प्रधानाध्यापक के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कृत कार्यवाही से शासन एवं अधोहस्ताक्षरी को अवगत कराने का निर्देश दिया गया है।
जिला अधिकारी ने तीन सदस्यी कमेटी गठित कर पूरे प्रकरण को शासन को भेजने की तैयारी
जिलाधिकारी मार्कंडेय शाही ने  बेसिक शिक्षा विभाग  के अध्यापकों के अंतर्जनपदीय स्थानांतरण में अवैध वसूली किए जाने के पूरे मामले की जांच हेतु 3 सदस्यीय कमेटी गठित करते हुए 3 दिन के अंदर  स्पष्ट आख्या मांगी है। जांच समिति में जिलाधिकारी द्वारा अपर जिलाधिकारी गोंडा राकेश सिंह , अपर पुलिस अधीक्षक स्वराज तथा एडी बेसिक विनय मोहन वन को  जांच अधिकारी नामित किया गया है। जिलाधिकारी ने बताया  कि संबंधित प्रकरण  में शासन को भी संदर्भित किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *