Gonda Mankapur News:कृषि विज्ञान केंद्र पर फूलों की खेती पर रोजगार परक प्रशिक्षण संपन्न

 

बी.के.ओझा 

मनकापुर ,गोण्डा ।कृषि विज्ञान केंद्र मनकापुर द्वारा 20 सितंबर 2021 से 24 सितंबर 2021 तक एक पांच दिवसीय रोजगार परक प्रशिक्षण फूलों की व्यवसायिक खेती पर आयोजित किया गया । इस अवसर पर केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डॉक्टर मिथिलेश कुमार पांडेय ने शिक्षित ग्रामीण बेरोजगार युवकों को फूलों की व्यवसायिक खेती कर रोजगार सृजन के लिए प्रेरित किया उन्होंने धान गेहूं गन्ना फसल चक्र में फूलों की व्यवसायिक खेती को समावेश करने की सलाह दी । डॉक्टर पीके मिश्रा वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि वानिकी ने फूलों की व्यवसायिक खेती के अंतर्गत गुलाब, गेंदा, कमल ग्लेडियोलस,रजनीगंधा, जरबेरा आदि के लिए भूमि एवं भूमि का चुनाव उन्नतशील प्रजातियां, खाद एवं उर्वरक प्रबंधन, सिंचाई आदि की विधिवत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दिल्ली में फूलों की मंडी देश की सबसे बड़ी मंडी है जहां किसान भाई फूलों की आपूर्ति कर अच्छा पैसा प्राप्त कर सकते हैं । डॉ रामलखन सिंह, वरिष्ठ वैज्ञानिक शस्य विज्ञान ने खरपतवार प्रबंधन की शस्यात्मक, यांत्रिक, रासायनिक एवं जैविक विधियों की जानकारी दी । उन्होंने फसल सुरक्षा के अंतर्गत एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन की जानकारी दी । डॉ मनोज कुमार सिंह उद्यान वैज्ञानिक ने प्रशिक्षणार्थियों को बताया कि केंद्रीय सगन्ध एवं औषधीय संस्थान एवं राष्ट्रीय वानस्पतिक अनुसंधान केंद्र लखनऊ से समन्वय स्थापित कर फूलों के विपणन से अच्छी आय प्राप्त की जा सकती है । उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कन्नौज जनपद में फ्रेगरेंस सेंटर स्थापित किया गया है । जहां से किसान भाई तकनीकी सहायता प्राप्त कर अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं । फूलों की खेती कर किसान भाई अपनी आय को दुगने से भी ज्यादा कर सकते हैं । फूलों का प्रयोग माला गजरा हार सजावट आदि में किया जाता है । फूलों की मांग त्योहारों एवं लगन के अवसर पर बढ़ जाती है । उस समय अच्छा मूल्य मिलता है । इसी के दृष्टिगत किसान भाई फूलों की खेती करें । फूलों का प्रयोग करने से नैसर्गिक सुंदरता बढ़ जाती है वातावरण मनमोहक हो जाता है । गेंदा की खेती करने से सूत्रकृमि नामक कीट के प्रकोप खत्म हो जाता है । महंगे फूलों की खेती वर्ष पर्यन्त पालीहाउस में की जाती है। जहां पर वातावरण को नियंत्रित किया जाता है । इसे संरक्षित खेती कहते हैं ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *