Gonda News:आयुक्त व डीएम ने राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का किया समापन, विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजय प्रतिभागियों को मिला नगद पुरस्कार

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा ।राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का समापन समारोह टाउन हाल गांधी पार्क में सम्पन्न हुआ जिसमंे मुख्य अतिथि आयुक्त देवीपाटन मण्डल एसवीएस रंगाराव व विशिष्ट अतिथि जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही व पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय रहे। अतिथियों द्वारा परिवहन विभाग के तत्वाधान में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजयी प्रतिभागियों को नगद धनराशि व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

दीप प्रज्ज्वलित कर समापन समारोह का शुभारम्भ करने के बाद आयुक्त एसवीएस रंगाराव ने परिवहन विभाग द्वारा आयोजित सड़क सुरक्षा माह के विभिन्न क्रार्यक्रमो व आयोजनों की सफलता पर बधाई दी और उन्होनंे जिलाधिकारी के रूप जनपद देवरिया व गाजियाबाद के अनुभवों को साझा करते हुये कहा कि सड़क दुर्घटनाओ में दूसरे की गलती का शिकार निर्दोष परिवार बनता है और इस घटना का पूरा प्रभाव उसके परिवार पर पड़ता है तथा बिना किसी गलती के पूरा परिवार आजीवन उसका दंश झेलता है। उन्होनें कहा कि प्रत्येक दशा में ट्रैफिक नियमों का पालन होना चाहिए। सुरक्षित यातायात के लिए सड़क की स्थिति, सिग्नल व्यवस्था तथा वाहन चलाने वाले की स्थिति तीनांे महत्वपूर्ण है। उन्होेंने सड़क सुरक्षा समिति की बैठकें, मण्डल में नियमित कराये जाने पर बल देते हुए कहा कि ब्लैक स्पाट चिन्हित कर साइन बोर्ड, साइनेज तथा जेब्रा क्रासिंग के माध्यम से सड़क सुरक्षा के उपाय सुनिश्चित किये जायें। ओवरलोड वाहनों का चालान किया जाय तथा जिन वाहनांे की अवधि समाप्त हो गयी है, उन्हें नियमानुसार कन्डम व ध्वस्तीकरण की कार्यवाही करायी जाए। उन्होनें ट्रैफिक नियमों के पालन के प्रति सतत् प्रयास करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि बच्चों को भी इसकी जानकारी दी जाये ताकि इसके लिए वे भविष्य में अपनी जिम्मेदारी का निर्वहंन कर सकें। उन्होने आधिकारियों से भी अपील की कि वे आकस्मिक स्थिति में ही सायरन का प्रयोग करें तथा ट्रैफिक नियमों का अनुपालन सुनिश्चित कर आमजन को संदेश दें। इसके साथ ही दिव्यांग जन द्वारा सड़क पार करते समय उनकी मदद जरूर करें। इस अवसर पर आयुक्त ने मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का जिक्र करते हुए निःशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु इस योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार पर विशेष बल दिया।

जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने कहा कि राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के आयोजन का उद्देश्य यही है कि सड़क दुर्घटनाओं को न्यूनीकृत किया जा सके। उन्होंने बताया कि जनपद में कोविड-19 महामारी से 5 हजार 68 लोग प्रभावित हुए तथा कुल 70 लोगों की मृत्यु हुई। उसके साापेक्ष सड़क दुर्घटना में तीन सौ लोग प्रभावित हुए जिनमें से दो सौ लोगों की मौत हो गई तथा सौ लोग घायल हुए। उन्होंने कहा कि इस आंकड़े से यह अनुमान लगाया जा सकता है कि महामारी से भी कितना खतरनाक दुष्परिणाम सड़क दुर्घटना का है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2019-20 में राष्ट्रीय स्तर पर बिना हेल्मेट के 44 हजार, बिना सीट बेल्ट के 20 हजार 885 तथा मोबाइल पर बात करते समय वाहन चलाते हुए 4 हजार 9 सौ लोग असमय कालकवलित हो गए। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा माह में जनपद के विभिन्न विभागों ने विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से बढ-़चढ़कर हिस्सा लिया है जिससे सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों में जागरूकता फैली है। उन्होंने कहा कि इसे लगातार जारी रखा जाय। उन्होंने सभी लोगों से संकल्प लेने की अपील की कि यातायात नियमों का अक्षरशः अनुपालन करते हुए वाहन संचालन किया जाय। इसके साथ ही दूसरों को इसके लिए प्रेरित किया जाय। कार्यक्रम में एलबीएस पीजी कालेज तथा मंथन कल्चरल सोसाइटी द्वारा यातायात जागरूकता सम्बन्धी गीतों व नाटक के माध्यम से जागरूक करने का प्रयास किया गया। आरटीओ व एआरटीओ द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

इस दौरान आरटीओ अजय यादव, एआरटीओ बबिता वर्मा, आरआई संजय कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक, जीजीआईसी प्रिन्सिपल, राजेश सिंह, राम नगीना यादव, संजय सिंह, अतुल श्रीवास्तव सहित प्रतिभागी छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

इन्होंने मारी बाजी, मिला नगद पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र

21 जनवरी से 20 फरवरी तक आयोजित राष्ट्रीय यातायात माह के दौरान परिवहन विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार प्रतियोगिताओं में बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा तथा उच्च शिक्षा विभाग के प्रतिभागियों ने चित्रकला, लेखन व क्विज में हिस्सा लिया। आयुक्त देवीपाटन मण्डल तथा डीएम मार्कण्डेय शाही ने विजय प्रतिभागियों को नगद पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

प्राथमिक शिक्षा विभाग में चित्रकला प्रतियोगिता में पूर्व मा0 विद्यालय मोकलपुर की अंजली मिश्रा ने प्रथम, पूर्व मा0 विद्यालय धानेपुर की विनीता शर्मा ने द्वितीय तथा पूर्व मा0 विद्यालय मोकलपुर की स्नेहा ने तृतीय स्थान हासिल किया। इसी प्रकार लेखन प्रतियोगिता में पूर्व मा0 विद्यालय मोकलपुर के अनुभव तिवारी ने प्रथम, कस्तूरबा गांधी विद्यालय झंझरी की आरती यादव को द्वितीय तथा रानी को तृतीय स्थान हासिल हुआ। बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से क्विज प्रतियोगिता में पूर्व मा0 विद्यालय भैरमपुर रूपईडीह की रोहिणी मिश्रा, कस्तूरबां गाधी बालिका विद्यालय करनैलगंज की नंदिनी तथा कम्पोजिट विद्यालय बड़ंगांव की आलिया ने तीसरा स्थान हासिल किया।

माध्यमिक शिक्षा विभाग अन्तर्गत चित्रकला प्रतियोगिता में राजकीय बालिका हाईस्कूल अकौनी की ललिता पाण्डेय को प्रथम, विद्या नगर किसान इंटर कालेज की अर्चना मिश्रा को द्वितीय तथा गंगा प्रसाद मिश्रा लाल इन्टर कालेज कौड़िया बाजार की मुस्कान पाण्डेय को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। लेखन प्रतियोगिता मेें राजकीय बालिका इन्टर कालेज सिसई टिकरिया की अर्चना यादव को प्रथम, शिक्षक बन्धु इन्टर कालेज की शालू को द्वितीय तथा माता प्रसाद साहू किसान इन्टर कालेज की सरिता चाौधरी को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। क्विज में राजकीय बालिका इन्टर कालेज गोण्डा की सविता तिवारी, किसान इन्टर कालेज भंभुआ की निधि गौतम तथा सर सैयद इन्टर कालेज की सुमैया सुुहेल का तीसरा स्थान प्राप्त हुआ। इसी प्रकार उच्च शिक्षा विभाग के अन्तर्गत तीनों प्रतियोगिताओं चित्रकला, लेखन तथा क्विज में आचार्य नरेन्द्र देव किसान पीजी कालेज के छात्र-छात्राओं ने सभी प्रतियोगिताएं जीतकर बाजी मारी। सभी विजयी प्रतिभागियों को आयुक्त व डीएम ने नगद पुरस्कार व प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया। इसके अतिरिक्त सांत्वना पुरस्का भी प्रदान किए गए।

समापन समारोह में यातायात जागरूकता कार्यक्रम में उत्कृष्ट सहयोग के लिए प्रो0 डा0 आरबी सिंह बघेल, जीजीआईसी की प्रिन्सिपल गीता त्रिपाठी, यातायात निरीक्षक अभिनव प्रताप सिंह, प्रवक्ता विजय शर्मा, व्यायाम शिक्षक राम नगीना यादव व संजय सिंह, जिला समन्वयक राजेश सिंह, प्रधानाचार्य वीर विक्रम सिंह, बस आपरेटर यूनियन के वशी अहमद, कमाल खां व मदन शर्मा, ट्रक आपरेटर यूनियन के श्याम पाल सिंह, टैम्पो यूनियन के राम स्वरूप दास को प्रशस्ति देकर सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *