Lakhimpur- Kheri-News:सीएम ने किया जिले के पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालय का वर्चुअल शिलान्यास एवं लोकार्पण

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी 19 अक्टूबर 2020।* सोमवार को राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान,वित्त आयोग एवं मनरेगा कन्वर्जेंस से निर्मित होने वाले पंचायत भवनों तथा स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) एवं वित्त आयोग के अंतर्गत निर्मित होने वाले सामुदायिक शौचालयों का लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम राजधानी लखनऊ में आयोजित हुआ। 
इस वर्चुअल लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम में जिला सूचना एवं विज्ञान केंद्र (एनआईसी) लखीमपुर खीरी के वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से खीरी सांसद अजय मिश्र टेनी, विधायक सदर योगेश वर्मा, डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, सीडीओ अरविंद सिंह,  डीसी मनरेगा राजनाथ प्रसाद भगत,डीपीआरओ मनोज कुमार यादव, एडीपीआरओ जितेंद्र गौड़ शामिल हुए।
इस वर्चुअल लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम के द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय मंत्री, कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह, पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी की मौजूदगी में जनपद खीरी के 1002 सामुदायिक शौचालयों का लोकार्पण, 164 सामुदायिक शौचालयों का शिलान्यास व 73 पंचायत घरों का लोकार्पण एवं 480 पंचायत घरों का शिलान्यास किया।कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के कई ग्राम प्रधानों से उनकी सफलता की कहानी सुनी एवं उनके उत्कृष्ट कार्यों की प्रशंसा करते हुए अन्य ग्राम प्रधानों को इससे प्रेरणा लेने की सलाह दी। जनप्रतिनिधि के प्रगतिशील होने पर ही बेहतर कार्य होंगे। केंद्र सरकार की सकारात्मक सोच एवं उत्तर प्रदेश से असीम स्नेह होने के कारण प्रदेश नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। यूपी ने स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत निर्धारित लक्ष्य को एक वर्ष पूर्व ही पूरा किया। केंद्र सरकार से यूपी को पूर्ण सहयोग मिलने के कारण ही समय से पूर्व ही पूरा प्रदेश ओडीएफ हो सका। स्वच्छ भारत मिशन अभियान के कारण ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में व्यापक परिवर्तन आए हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से भी जोड़ा जाएगा। पंचायत घर को मिनी सचिवालय की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। बैंक सखी को भी ग्राम सचिवालय से जोड़ा जाएगा, जिससे ग्रामवासियों को स्थानीय स्तर पर पैसे का लेनदेन भी सुगमता से कर सकें। प्रदेश सरकार ग्रामीण स्वावलंबन के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। महिलाओं में विकास के प्रति जागरूकता बढ़ी है व प्रदेश में 43 फ़ीसदी महिला ग्राम प्रधान है। महिला ग्राम प्रधानों ने अपनी अपनी पंचायतों में रुचि के साथ बेहतर काम किया है। अगले 100 दिनों के अंदर परिषदीय विद्यालयों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को उनका मालिकाना हक देने के लिए स्वामित्व योजना वरदान साबित होगी। उन्होंने निर्देश दिया कि आज शिलान्यास होने वाले पंचायत घरों एवं सामुदायिक शौचालय में एक निर्धारित अवधि में गुणवत्ता के साथ कार्य पूर्ण किया जाए एवं उनकी शुरुआत स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से भी कराया जाए। ग्राम स्वराज के सपना प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में पूर्ण होता दिख रहा है। ग्राम पंचायत के विकास की प्रक्रिया में जुड़कर ग्राम स्वराज के सपने को साकार करें।इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री, कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज-नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह, पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी ने भी केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा जन कल्याणकारी कार्यों के संबंध में अपने सारगर्भित विचार व्यक्त किये।Attachments area

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *