Gonda News:सरकार की योजनाओं का लाभ उठायें श्रमिक- श्रम प्रवर्तन अधिकारी योगेश दीक्षित

राम नरायन जायसवाल

ग़ोण्डा।श्रम परिवर्तन अधिकारी योगेश दीक्षित ने बताया है कि मिशन मोड प्रोजेक्ट के तहत श्रमिक पंजीयन में आधार कार्ड, 01 फोटो व स्वप्रमाण पत्र लगाकर श्रम विभाग में श्रमिक अपना पंजीयन करा सकते है या फिर नजदीकी जनसेवा केन्द्र पर जाकर पंजीयन करा सकते है। जिसके लिए लाभार्थी को 01 वर्ष हेतु 40 रुपये, 02 वर्ष के लिए 60 रुपये, 03 वर्ष के लिए 80 रुपये अंशदान जमा करना होगा।

 श्रम परिवर्तन अधिकारी योगेश दीक्षित ने बताया कि शासन द्वारा पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के कल्याणार्थ योजनाएं संचालित की गयी है, जिसमें मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना के अन्तर्गत पंजीकृत महिला श्रमिक के संस्थागत प्रसव की दशा में निर्धारित न्यूनतम वेतन की दर से 03 माह के वेतन समतुल्य धनराशि एवं रु0 1000.00 का चिकित्सा बोनस देय होगा। पंजीकृत पुरुष कामगारों को रु0 6,000.00 दो किस्तों में देय होगा। पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के अधिकतम दो नवजात शिशुओं के पौष्टिक आहार हेतु वर्ष में एक बार एकमुश्त लड़का पैदा होने पर रु0 20000.00 वार्षिक तथा लड़की पैदा होने की स्थिति में रु0 25,000.00 बतौर सावधि जमा जो 18 वर्ष के लिए होगा, भुगतान किया जायेगा। जन्म से दिव्यांग बालिकाओं को रु0 50,000.00 बतौर सावधि जमा जो 18 वर्ष के लिए होगा भुगतान किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि सन्त रविदास शिक्षा सहायता योजना के तहत पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के 25 वर्ष तक के अधिकतम 02 बच्चों (पुत्र, पुत्रियों) को कक्षा-1 से उच्चतर शिक्षा हेतु न्यूनतम रु0 150 मासिक से रु0 2,000 मासिक तक विभिन्न दरों से छात्रवृत्ति का भुगतान किया जायेाग। पाठ्यक्रम आई0टी0आई0 वोकेशनल कोर्स, प्रोफेशनल कोर्स, सरकारी संस्थाओं, काॅलेज के वार्षिक शुल्क के समान धनराशि देय है। मेधावी छात्र, छात्राओं को कक्षा 05 से लेकर उच्च शिक्षा हेतु रु0 4,000 से रु0 22,000 तक की वार्षिक छात्रवृत्ति। आवासीय विद्यालय योजना के तहत पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के 06 से 14 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को आवासीय सुविधा के साथ गुणवत्तापरक शिक्षा की निःशुल्क सुविधा।

कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना के तहत श्रमिक या उसके पुत्र, पुत्री के व्यावसायिक प्रशिक्षण पर व्यय की गयी धनराशि की प्रतिपूर्ति तथा प्रशिक्षण काल में श्रमिकों के मजदूरी का भुगतान। कन्या विवाह सहायता योजना के तहत श्रमिकों की पुत्रियों के विवाह हेतु रु0 55,000 अन्तर्जातीय विवाह में रु0 61,000 प्रति विवाह अनुदान दो पुत्रियों के विवाह हेतु एवं सामूहिक विवाह की स्थिति में रु0 65,000 की सुविधा प्रदान किया जायेगा।  निर्माण कामगार आवास सहायता योजना के तहत पंजीकृत निर्माण श्रमिक के आश्रयहीन होने अथवा अधिकतम दो कच्चे कमरे वाले घर होने पर अपनी जमीन पर मकान बनाने अथवा मकान क्रय हेतु रु0 1,00,000 की आर्थिक सहायता दो समान किस्तो में दी जायेगी। यदि पंजीकृत निर्माण श्रमिक के पास स्वयं का रिहायती मकान है तो उसे मकान मरम्मत हेतु एक मुस्त रु0 15,000 की धनराशि प्रदान की जाती है।

स्वयं का आवास होने पर शौचालय की सुविधा न होने पर शौचालय निर्माण हेतु रु0 12,000 की धनराशि दो सामान किस्तों में दी जायेगी। चिकित्सा सुविधा योजना के तहत पंजीकृत विवाहित निर्माण श्रमिक को प्रतिवर्ष रु0 3,000 एवं अविवाहित निर्माण श्रमिक को रु0 2,000 प्रतिवर्ष बैंक खाते में स्थानान्तरित की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *