Lakhimpur Kheri News:शासन के निर्देश पर डीएम, सीडीओ एवं उनके द्वारा नामित अधिकारियों ने किया सरकारी का कार्यालयों का मुआयना

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी । बुधवार को शासन के निर्देश पर डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, सीडीओ अरविंद सिंह सीएमओ डॉ मनोज अग्रवाल, एडीएम अरुण कुमार सिंह एवं डीएम द्वारा नामित जिला स्तरीय अधिकारियों ने सरकारी कार्यालयों का ताबड़तोड़ निरीक्षण किया।


डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने एसपी विजय दुल के साथ विकास भवन का औचक निरीक्षण किया। डीएम-एसपी ने सीडीओ के साथ विकास भवन में स्थापित जिला कृषि अधिकारी, सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक सहकारिता समेत विभिन्न कार्यालयों का सघन निरीक्षण कर पंजिकाओ एवं पत्रावलियों का अवलोकन किया। विकास भवन की बेहतर साफ-सफाई मिलने सहित व्यवस्थित एवं सुचारु संचालन पर सीडीओ अरविंद सिंह की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सीडीओ के नेतृत्व में पूरे विकास भवन को कॉर्पोरेट ऑफिस के रूप में विकसित किया गया है।


डीएम ने एआर कोऑपरेटिव कार्यालय के निरीक्षण के दौरान सहकारी समितियों परिसंपत्ति रजिस्टर देखा। इस रजिस्टर में सहकारी समितियों के खसरा-खतौनी, व्यवसाय, भवन का फोटोग्राफ्स, भवन का क्षेत्रफल, लोकेशन (अक्षांश एवं देशांतर) सहित उसकी पूरी अद्यतन स्थिति अंकित मिलने पर उन्होंने एआर कोऑपरेटिव रत्नाकर सिंह की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि अन्य अधिकारियों को भी इससे प्रेरणा लेते हुए अपने विभागीय संपत्तियों का इसी प्रकार से अद्यतन विवरण अपडेट रखना चाहिए।  


डीएम-एसपी ने सीडीओ के साथ पूरे विकास भवन परिसर का भ्रमण किया। विकास भवन परिसर में कराए गए कार्यों के संबंध में में सीडीओ ने विस्तृत जानकारी दी। 

निरीक्षण के दौरान उक्त सभी कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क व्यवस्थित पाई गई। उपस्थित पंजिका के अवलोकन के दौरान डीएम ने संबंधित विभागाध्यक्ष से अनुपस्थित कर्मचारियों का कारण जाना और बिना सूचना के अनुपस्थित कर्मचारियों से स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए।


डीएम ने मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, जिला विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, उपायुक्त श्रम रोजगार सहित तहसीलों हेतु संबंधित उप जिलाधिकारियो निरीक्षण हेतु नामित किया गया था।


निरीक्षण में मुख्य रूप से कार्यालय की साफ सफाई, अधिकारी-कर्मचारियों की उपस्थिति, कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना, कार्यालयों में सरकारी अभिलेखों एवं पत्रावलियो का रखरखाव सहित तमाम बिंदुओं पर गहनता से पड़ताल की गई। वही सभी नामित अधिकारियों द्वारा आज ही अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *