Gonda Colonelganj News: सेनानी राम अचल आचार्य बैठे आमरण अनशन,प्रशासन के रोकने पर तहसील से अलग बैठ गये अनशन पर प्रशासन ने उनकी मांगे मानी

एसपी सिंह / ज्ञान प्रकाश मिश्रा

करनैलगंज,गोण्डा। करनैलगंज तहसील से प्रदेश व देश स्तर पर सम्मानित हो चुके जिले के इकलौते स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रामअचल आचार्य न्याय न मिलने पर सोमवार को तहसील परिसर में आमरण अनशन बैठने पहुंचे।जहां प्रशासन ने नही बैठने दिया, जिस पर वह अन्य स्थान पर अनशन की शुरुआत कर दिये। जिसे सुनकर पुलिस व प्रशासन के हाथ पांव फूलने लगे। पूर्व घोषित सूचना के अनुसार स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रामअचल आचार्य बीते कई वर्षों से अद्धिकारियो का चक्कर लगा रहे है। मगर उन्हें आज तक न्याय नही मिल सका जिससे आहत होकर वह सोमवार को तहसील परिसर में अनशन पर बैठने पहुंच गये। जहां उन्हें पुलिस व प्रशासनिक अद्धिकारियो ने अनशन पर नही बैठने दिया।

अधिकारियों की मनमानी देखकर श्री आचार्य नगर करनैलगंज के मोहल्ला गाड़ी बाजार स्थित रामजानकी मंदिर परिसर में अनशन शुरू कर दिये। सूचना पाकर उपजिला अधिकारी ज्ञानचन्द गुप्ता, कोतवाल राजनाथ सिंह व नगर चौकी प्रभारी रणजीत यादव मय फोर्स पहुंच गये। तब तक उत्तर प्रदेश सहकारी बैंक करनैलगंज के अध्यक्ष त्रिलोकी नाथ तिवारी व अधिवक्ता अरविंद कुमार शुक्ल सहित अन्य लोग भी मौके पर पहुंच गये। और श्री आचार्य से अनशन समाप्त करने का अनुरोध करने लगे। अधिकारियों व वहां मौजूद लोगों के अनुरोध पर श्री आचार्य ने इस शर्त पर अनशन समाप्त किया कि यदि उनके समस्या का समाधान नही किया गया तो वह पुनः अनशन पर बैठने के लिये बाध्य हो जाएंगे। वही एसडीएम ने बताया कि श्री आचार्य को 23 अगस्त को नोटिस के माध्यम से सूचित किया गया था, कि कोरोना संक्रमण व आयु अधिक होने के कारण  स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है। रही बात मांगों की तो तत्काल राजस्व विभाग की टीम को उनके गांव भेजकर रास्ता खुलवाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि कुछ अन्य विवाद भी है उसे भी निस्तारित कराने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *