Lakhimpur Kheri News: शारदा का कटान हुआ तेज, ग्रामीणों की फरियाद बचा लो सरकार

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी। गोला तहसील के बिजुआ इलाके में शारदा का कहर जारी है ।यहां 3 दिन से कटान में काफ़ी तेजी आ गयी है। कमिश्नर के आने के बाद से राहत कार्य मे तेजी आ गयी है। इस समय सिंचाई विभाग की तीन टीमें बचाव कार्य के लगी हैं। कटान की गति को देखते हुए बचाव कार्य नाकाफी साबित हो रहे है।

शुक्रवार को कटान से बिजुआ के पूर्व प्रधान अमेरिकन बिट्टू के खेत में कटान कर रही है। पास में ही यशपाल सिंह के परिवार का गन्ना नदी में समा रहा है। शारदा नदी के कटान को रोकने के लिए सिंचाई महकमा तीन स्थान पर राहत कार्य मे लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि जिस जगह कटान हो रहा है, वहां पर पेड़ों को काटकर नदी में डाला जा रहा है।जिससे नदी के वेग को कम किया जा सके। लेकिन जानकार बताते हैं कि अगर यहां पर बैम्बू कैरेट डालें जाए, तो कटान के वेग को रोका जा सकता है। जिले में शारदा नदी जिस तेजी से कटान कर रही है, उससे ग्रामीणों के चेहरों पर नदी का खौफ है। शारदा पिछले 10 दिनों से दक्षिण तट की ओर कटान कर सैकड़ों एकड़ जमीन काट चुकी है, अब शारदा का रूख नया दुबहा और रेवतीपुरवा की ओर है, वहीं नदी के निशाने पर तीन साल पहले की बनी परियोजना भी है। ग्रामीणों का कहना है कि जल्दी अगर इस पर काम नहीं शुरू हुआ तो फिर शारदा के कटान को रोकना मुश्किल होगा और शारदा करीब आधा दर्जन गांवों के लिए तबाही बन चुकी होगी। सिख किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल कमिश्नर से मिला, और शारदा नदी के कटान और खतरों से रूबरू कराया।

कमिश्नर रंजन कुमार किसानों की बात सुनकर नदी के कटान को देखने पहुंचे। कमिश्नर रंजन कुमार के साथ मे डीएम डॉ अरविंद चौरसिया, पुलिस अधीक्षक विजय ढुल, एसडीएम अखिलेश यादव, मौजूद रहे।नदी के लगातार कटान को देखते हुए नया दुबहा गांव के लोग पलायन की तैयारी में हैँ। तमाम ग्रामीण अपना सामान समेटने की तैयारी में थे, उन्हें लग रहा है कि जिस गति से सिंचाई विभाग नदी को रोकने के प्रयास कर रहे हैँवह नाकाफी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *