Gonda News:शिक्षा द्वारा ही मानव मस्तिष्क का विकास संभव किया: जनार्दन सिह

 गुरु-शिष्य परम्परा कीे युगानुकूल अभिव्यक्ति है, शिक्षक दिवस

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा। सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज मालवीय नगर परिसर में शिक्षक दिवस कार्यक्रम हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। कार्यक्रम में विद्यालय के सेवानिवृत शिक्षकों को अंग वस्त्र एवं उनके दैनिक उपयोग की सामग्री देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में विद्यालय के प्रबंधक जनार्दन सिंह, अध्यक्ष वीरेश्वर चौधरी एवं विशिष्ट अतिथि के रुप में संकुल प्रमुख प्रधानाचार्य  काली प्रसाद मिश्र उपस्थित रहे इस अवसर पर उपस्थित जनों का मार्गदर्शन करते हुए प्रबंधक जनार्दन सिंह ने कहा कि भारत वर्ष में अनादि काल से गुरु-शिष्य परम्परा रही है,शिक्षक दिवस उसी प्राचीन परंपरा की युगानुकूल अभिव्यक्ति है। शिक्षा के द्वारा ही मानव मस्तिष्क का सदुपयोग किया जा सकता है । अतः देश को एक ही इकाई मानकर शिक्षा का प्रबंध करना चाहिए।

संकुल प्रमुख काली प्रसाद मिश्र ने कहा शिक्षक वह है जो अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाकर जीवन जीने  की कला को सिखाता है।

इस अवसर पर सेवानिवृत्त हुए शिक्षक सुरेंद्र सिंह, श्रीमती मिथिलेश सिंह, एवं नकछेद प्रसाद शुक्ल ने अपने शैक्षिक जीवन काल के विभिन्न संस्मरण को उपस्थित जनों से साझा किया। यह जानकारी प्रचार प्रमुख जितेंद्र पांडेय हलचल ने दी। कार्यक्रम में विद्यालय से सभी आचार्य एवं आचार्य बहने उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *