Lakhimpur Kheri News:शासन की योजनाओं का गुणवत्तापरक क्रियान्वयन सुनिश्चित करें अधिकारी: अजय मिश्र टेनी

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी ।  भारत सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के अनुश्रवण हेतु जनपद स्तरीय गठित जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में खीरी सांसद अजय मिश्र ‘टेनी’ की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी।        

बैठक की अध्यक्षता करते हुए सांसद अजय मिश्र टेनी ने कहा कि खीरी जिले में विकास कार्यक्रमों में स्थिति बेहद संतोषजनक है, इसी का परिणाम है कि विकास कार्यक्रमों में खीरी केंद्र व प्रदेश सरकार की प्रत्येक महत्वाकांक्षी योजना में टॉप टेन में रहा है। मा. प्रधानमंत्री जी और मा. मुख्यमंत्री जी के नीतियों के चलते कोविड के संक्रमण को नियंत्रण करने में काफी हद तक सफल रहे। जिलाधिकारी के कुशल मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में जिले की पूरी टीम ने पूरी ऊर्जा के साथ मेहनत की है जिस का प्रतिफल है कि खीरी में संक्रमण का प्रसार अन्य जनपदों की तुलना में काफी कम रहा है। उन्होंने कहा कि जिले के अधिकारियों ने अपने स्वास्थ्य की परवाह किए बिना जिले की स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए पूरी शिद्दत से काम किया है।सांसद अजय मिश्र ‘टेनी’ ने गोमती को पुनर्जीवित करने को लेकर जिला स्तर पर किए जा रहे प्रयासों को सराहा। उन्होंने कहा कि डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में केंद्र एवं प्रदेश सरकार की सभी जनकल्याणकारी योजनाओं में अधिकारियों ने पूरी निष्ठा और जिम्मेदारी से अपने कार्य दायित्वों का निर्वहन करते हुए अच्छे परिणाम दिए हैं। उन्होंने कहा कि डीएम और सीडीओ के नेतृत्व में जिले में विभिन्न योजनाओं में खीरी ने शीर्ष स्थान को प्राप्त किया। जिले में हुए अनूठे एवं अभिनय प्रयासों की हर स्तर पर प्रशंसा की जा रही है।


बैठक की समीक्षा के दौरान सीडीओ अरविंद सिंह ने मनरेगा के तहत गोमती नदी को जिले में पुनर्जीवित करने को लेकर चलाए जा रहे अभिनव प्रयास पर पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने ऑपरेशन चतुर्भुज सहित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 14 पैरामीटर जिले में किए गए बेहतर प्रदर्शन को लेकर विस्तृत जानकारी दी। सांसद ने मनरेगा के तहत जिले में हुए उत्कृष्ट कार्यों पर प्रशंसा जाहिर की। बैठक में लिलौटी नाथ स्थित नदी को भी पुनर्जीवित करने पर चर्चा हुई।

जिले के 257 स्वयं सहायता समूह द्वारा सामुदायिक शौचालयों के संचालन की जिम्मेदारी अदा की जा रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर सांसद ने पीडी डीआरडीए रामकृपाल चौधरी की प्रशंसा की।


सौभाग्य योजना की समीक्षा के दौरान एक्सईएन प्रदीप कुमार वर्मा ने बताया कि इस योजना के तहत जिले में अब तक 02 लाख, 01 हजार विद्युत कनेक्शन निर्गत किए गए। वही वर्तमान में जिले को 9000 नए कनेक्शन किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिस पर कार्य जारी है। उन्होंने बताया कि विद्युत संबंधी शिकायतों के निवारण हेतु माह के प्रथम एवं तृतीय शनिवार एवं रविवार को जिले के सभी 54 उप केंद्रों पर महा शिकायत निवारण शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त टोल फ्री नंबर 1912 के माध्यम से भी लोगों की विद्युत संबंधी समस्याओं का तत्परता से निवारण किया जा रहा है।

सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने जिले में कोविड-19 की अद्यतन स्थिति की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में 2.58 प्रतिशत पॉजिटिविटी रेट एवं 95.71 प्रतिशत रिकवरी रेट है। जिले में 400 सर्विलांस टीमें एवं 37 रैपिड रिस्पांस टीम में फील्ड में क्रियाशील है। जनपद में अभिनव प्रयास के तहत सुदूरवर्ती थारू क्षेत्र में 6 सब सेंटर प्रारंभ किए गए थे जिसमें गत 2 माह में 398 प्रसव कराए जा चुके हैं। जिले में 253 लक्षित हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर के सापेक्ष 108 सेंटर क्रियाशील है। बीएसए बुद्ध प्रिय सिंह ने बताया कि जिले में स्वेटर का वितरण करा लिया गया है। वही प्राथमिक विद्यालयों हेतु दो चरणों में 1950 नए शिक्षक जिले को मिले हैं जिससे प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की कमी दूर हो गई। 


डीएसओ विजय प्रताप सिंह ने बताया कि जिले में 04 लाख 39 हजार 543 उज्जवला कनेक्शन वितरित किए गए। वही एक लाख नो हजार 826 अंतोदय कार्ड धारक, 7 लाख 36 हजार 360 पात्र गृहस्थी कार्ड धारक हैं। पूरे जिले में 8 लाख 46 हजार 188 परिवार कार्ड धारक है। डीडी कृषि योगेश प्रताप सिंह ने बताया कि जिले में 5 लाख 84 हजार कृषकों को पीएम किसान योजना के तहत लाभान्वित किया जा रहा है। पराली की समस्या से निजात दिलाने हेतु फसल के अवशेष को जमीन में मिलाने हेतु फार्म मशीनरी बैंक को किसानों को सब्सिडी पर उपलब्ध कराया जा रहा है। जिला समाज कल्याण अधिकारी सुधांशु शेखर ने बताया जिले में 01 लाख 09 हजार 517 वृद्धावस्था पेंशन, 92 हजार 617 निराश्रित महिला पेंशन एवं 20 हजार 349 दिव्यांग पेंशन के लाभार्थी हैं।


बैठक का संचालन करते हुए परियोजना निदेशक (डीआरडीए) रामकृपाल चैधरी ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना, दीनदयाल अंत्योदय योजना (एनआरएलएम), प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना (सभी के लिए मकान शहरी), प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना,  डिजिटल भारत भू-रिकार्ड आधुनिकीकरण कार्यक्रम, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति योजना, श्यामा प्रसाद मुखर्जी रर्बन मिशन (एनआरयूएम), राष्ट्रीय विरासत शहर विकास वृद्धि योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, सर्व शिक्षा अभियान, समेकित बाल विकास योजना, मिड-डे-मिल, प्रधानमंत्री उज्जवला आदि योजनाओं की कार्यप्रगति का ब्योरा प्रस्तुत किया। बैठक में समिति के नामित सदस्य सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व उनके प्रतिनिधियों ने जनसमस्याओं के बारे में चर्चा करते हुए समाधान के बारे में विभागीय अधिकारियों का ध्यान आकर्षित किया।


जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बैठक की अध्यक्षता कर रहे खीरी के सांसद अजय मिश्र टेनी सहित समस्त जनप्रतिनिधियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं के बारे इस बैठक में समीक्षा की जाती है। जनप्रतिनिधियों द्वारा जो सुझाव दिए गये उनका शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के मार्गदर्शन से ही हर योजनाओं में जनपद में बेहतर परफॉर्मेंस दिया है। आपके मार्गदर्शन एवं स्नेह से ही खीरी बेहतर जनपद के रूप में स्थापित होगा।


           बैठक में सांसद प्रतिनिधि अरविंद सिंह संजय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 मनोज अग्रवाल, जिला विकास अधिकारी अरविन्द कुमार, एक्सईएन विघुत प्रदीप वर्मा, सहायक निदेशक सूचना रत्नेश चन्द्र, बीएसए बुद्धप्रिय सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *