Gonda Itiyathok News:दर्जनों नलकूप हुए खराब,नहरों में पड़ा सूखा और प्यासे खेत किसानो के लिए बनी मुसीबत

राम नरायन जायसवाल

इटियाथोक,गोण्डा।मौसम में जिम्मेदार भले ही सारी तैयारियां मुकम्मल होने का दावा कर रहे हों, लेकिन हालात कुछ अलग ही है। खराब नलकूप जहां किसानों की मुसीबतें बढ़ा रहे हैं, वहीं सूखी नहरों ने भी सितम ढ़ा दिया है। 


इटियाथोक ब्लॉक क्षेत्र में जहां नहरें सूखी पड़ी हैं,वहीं दर्जनों नलकूप ध्वस्त पड़े हैं, जो क्षेत्र के किसानों का रुलाने के लिए काफी है।यदि सरकारी आंकड़ों पर गौर करें तो 78 नलकूपों में से 5 नलकूप सुधारात्मक श्रेणी में बताए जा रहे हैं, वहीं 6 नलकूप परित्यक्त और 5 फेल बताए जा रहे हैं, जबकि 62 नलकूप चलित घोषित है। दूसरी ओर सरयू नहर परियोजना की किसी भी शाखा में पानी ही नहीं है।जनप्रतिनिधियों की बेरुखी भी किसानों पर भारी पड़ रही है।


केस-1
 ब्लॉक क्षेत्र के सेखुई गांव में लगा नलकूप साल से ऊपर हुए खराब पड़ा है।जबकि सरयू नहर परियोजना की इटियाथोक माइनर का बुरा हाल है। स्थानीय लोगों ने बताया कि कई बार अधिकारियों से समस्या का समाधान कराने की मांग की गई, लेकिन स्थितियां जस की तस बनी हुई हैं।
केस-2
ब्लॉक क्षेत्र के अयाह गांव में राजकीय नलकूप संख्या 20 का हाल बदहाल है।जिससे करीब सौ किसानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

केस- 3
क्षेत्र के बेलवा बहुता गांव में लगे नलकूप का लगभग वजूद ही समाप्त हो चुका है। गांव के किसानों का कहना है कि कई साल पहले जब नलकूप खराब हुआ,तभी से प्राइवेट डीजल पंपसेट से सिंचाई करनी पड़ रही है।आज तक कोई भी जिम्मेदार अफसर सुधि लेने नहीं आया।

जिम्मेदार के बोल
एपी श्रीवास्तव एई नलकूप विभाग ने बताया कि  इटियाथोक ब्लॉक क्षेत्र में  स्थापित 78 नलकूपों में से 5 नलकूप सुधारात्मक अवस्था में है। 6 नलकूप परित्यक्त हैं। 5 नलकूप फेल है। शेष 62 नलकूप चलित अवस्था में है। खराब पड़े नलकूपों को ठीक कराने के प्रयास किए जा रहे हैं।”पहली फोटो खराब नलकूप 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *