Lakhimpur Kheri News:समस्या समाधान परिवार ने दुर्घटनाग्रस्त के इलाज जारी रखने हेतु दी पुनः आर्थिक मदद।

समस्या समाधान परिवार बना मानव सेवा के उदाहरण की मिसाल।

एन.के.मिश्रा

गोला गोकर्णनाथ (खीरी)। गोला नगर से संचालित समस्या समाधान परिवार लगातार मानवता की मिशाल पेश करता चला आ रहा है। इसी क्रम में आज पुनः ग्राम हरिहरपुर के श्रीचंद जो कि विगत 29 अप्रैल को दुर्घटना में काफी चोटों के साथ मानसिक समस्या से ग्रस्त थे। इनके इलाज के लिए समस्या समाधान परिवार ने विगत 14 जून 2021 को 5000 रुपए की नगद आर्थिक मदद कर लखनऊ के एफ.आई. हॉस्पिटल भेज कर वहां एमआरआई, सीटी स्कैन कराकर न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टर की 3 दिन की देखरेख में 20 दिन की दवा उपलब्ध करा कर एफ.आई. हॉस्पिटल के डॉ0 तौसीफ भुड़वारा निवासी के सहयोग से कोई भी पैसा नहीं देना पड़ा। 20 दिन दवा चलाने के पश्चात जब दवा खत्म होने को आई तब दुर्घटनाग्रस्त श्रीचंद्र की पत्नी ने समस्या समाधान परिवार के संचालक रजनीश गुप्ता को फोन कर घर की माली हालत ठीक ना होने की वजह से पुनः सहयोग की अपेक्षा की। जिसके पश्चात दिनांक 6 जुलाई 2021 को समस्या समाधान परिवार के सदस्य ग्राम हरिहरपुर पहुंचे और पीड़ित परिवार से मिलने के बाद देखा कि अब दुर्घटनाग्रस्त श्रीचंद के स्वास्थ्य में काफी सुधार हुआ है, वह अब स्वयं थोड़ा बहुत चलने-फिरने लगा है। उसे बस कुछ जख्मों को सुखाने और दिमागी ताकत की और आवश्यकता है। परिस्थितियों को देखते हुए समस्या समाधान परिवार ने आज पुनः 3000 रुपयों की मदद करते हुए दवा खरीदने के लिए दुर्घटनाग्रस्त श्रीचंद के पिता बच्चू लाल को लखनऊ भेजा।
संचालक रजनीश गुप्ता ने पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया कि अगर भविष्य में भी कोई समस्या हो तो एक बार संगठन को अवश्य सूचना पहुंचाई जाए। संगठन हर संभव मदद का प्रयास अवश्य करेगा और चिकित्सा में सहयोगी बने भुड़वारा निवासी डॉ तौसीफ खान एफ.आई. हॉस्पिटल लखनऊ का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि नगर की चिकित्सा व्यवस्था के सुधार के लिए क्षेत्र में एक बड़े हॉस्पिटल का निर्माण समस्या समाधान परिवार भविष्य में अवश्य करवाएगा। सह संचालक कृषांग गुप्ता, नरेंद्र त्रिवेदी ने क्षेत्रीय चिकित्सा व्यवस्था में सुधार के लिए सभी को एकजुट होने की बात कही।
इस मौके पर दुर्घटनाग्रस्त पीड़ित श्रीचंद के परिवार के अलावा दिलीप निषाद, जुनैद अहमद इराकी, समीर अंसारी, रोहित कुमार, विरेंद्र आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *