Balrampur News:सपा ने लगाया आरोप नही होने दिया प्रशासन ने अधयक्ष पर नामांकन

सपा कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट के बाहर कई घंटों तक धरना प्रदर्शन करते हुए सरकार व प्रशासन के विरोध में नारेबाजी की

राम नरायन जायसवाल

बलरामपुर । जनपद बलरामपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष पद का नामांकन प्रक्रिया काफी गहमागहमी के बीच कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के तहत संपन्न हुई । नामांकन प्रक्रिया के दौरान समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री डॉक्टर शिवप्रताप यादव, पूर्व विधायक मसूद खान, पूर्व विधायक जगराम पासवान, सपा युवा नेता जिला पंचायत सदस्य भानु प्रकाश तिवारी सहित तमाम नेताओं की मौजूदगी में बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट के बाहर कई घंटों तक धरना प्रदर्शन करते हुए सरकार व प्रशासन के विरोध में नारेबाजी किया । कलेक्ट्रेट की ओर जाने के लिए समाजवादी पार्टी के नेताओं तथा पुलिस के बीच कई बार धक्का-मुक्की भी हुई। पुलिस प्रशासन सपा नेताओं को रोकने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी थी ।

समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री डॉक्टर शिवप्रताप यादव ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी जिला पंचायत कुर्सी हथियाने के लिए पुलिस प्रशासन का खुलेआम दुरुपयोग कर रही है । उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के पास केवल 6 जिला पंचायत सदस्य जीत कर आए थे । जबकि समाजवादी पार्टी के 13 जिला पंचायत सदस्य विजई हुए थे । सपा प्रत्याशी किरण यादव को घोषित किया गया था, जिन्हें आज नामांकन पत्र दाखिल करना था । उन्होंने आरोप लगाया कि 1 दिन पूर्व से ही समाजवादी पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी किरण यादव के घर पर पुलिस का पहरा लगा दिया गया और उन्हें घर से बाहर नहीं जाने दिया गया । उन्होंने निर्वाचन आयोग तथा उच्च अधिकारियों से मांग किया है यह पूरे मामले की जांच कराई जाए । समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक मसूद खान ने बताया कि वह 26 जून की सुबह समाजवादी पार्टी प्रत्याशी किरण यादव को उनके ससुर विजय यादव के साथ लेकर नामांकन के लिए निकले थे, तभी महाराजगंज तराई पुलिस ने जांच के नाम पर सभी गाड़ियों को रोक लिया । पुलिस प्रशासन ने सपा प्रत्याशी को नामांकन स्थल कलेक्ट्रेट तक निर्धारित समय तक पहुंचने नहीं दिया, जिसके कारण सपा प्रत्याशी ने अपना नामांकन दाखिल नहीं कर सकीं। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा पुलिस प्रशासन का दुरुपयोग करके जिला पंचायत की कुर्सी पर काविज पर होने का प्रयास कर रही है, जिसकी जांच कराई जानी चाहिए । अपर पुलिस अधीक्षक अरविंद मिश्र ने सपा प्रत्याशी को बंधक बनाये जाने के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए बताया कि उनके पास किसी भी प्रत्याशी या उसके परिजनों द्वारा कोई शिकायत नहीं की गई है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी अरुण कुमार शुक्ला ने भी कुछ ऐसी ही जानकारी दी है । उन्होंने भी कहा है कि उनके पास भी किसी भी प्रत्याशी द्वारा कोई शिकायत नहीं की गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *