Gonda News:डीएम की समीक्षा में डब्लूएचओ के अधिकारी द्वारा बताया गया कि माॅक ड्रिल के दौरान कई कमियां पाई गई,पुनःहोगा प्रशिक्षण

जिला अस्पताल के कोविड 19 में किया गया ड्राई रन


डीएम की समीक्षा में डब्लूएचओ के अधिकारी द्वारा बताया गया कि माॅक ड्रिल के दौरान कई कमियां पाई गई 

कोविड वैक्सीनेशन में लगाए गए स्टाफ का पुनः प्रशिक्षण कराएं

राम नरायन जायसवाल

 गोण्डा ।मंंगलवार को  जिला अस्पताल के कोविड-19 अस्पताल  में  कोविड-19 वैक्सीन का ड्राई  रन के लिए नगर क्षेत्र में 3 अस्पताल जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल तथा एससीपीएम हॉस्पिटल को चयनित किया गया है  था जहां पर आज कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन किया गया जिला अस्पताल और महिला अस्पताल में 50 50 चिंहितो को ड्राई रन के लिए दो शेषन में मार्क डिल किया गया।

जिला अधिकारी की समीक्षा बैठक मे ड्राई रन को डब्लूएचओ के अधिकारी द्वारा बताया गया कि माॅक ड्रिल के दौरान कई कमियां पाई गई हैं। 

तीन हाल बनाये गये थे जिसमे वेटिंग एरिया,वैक्सीनेशन एरिया,आब्जर्वेसन एरिया, पहले 
 वेटिंग एरिया में वेट कराकर औपचारिकता पूरी कर वैक्सीनेशन एरिया में भेजकर ड्राई रन करके आब्जर्वेसन एरिया में भेजकर वेट कराया गया।

कोई परेशानी न होने पर घर भेजा गया। पुलिस प्रशासन स्वास्थय  विभाग और प्रशासन पूरी तरह से सतर्क  ड्राई रन का कार्य पूरा हो गया। 

कोविड 19 वैक्सीन के ड्राई रन का आयुक्त ने किया निरीक्षण 

कोविड 19 वैक्सीन के ड्राई रन का आयुक्त ने किया निरीक्षण 

टीकाकरण की तैयारियों का जायजा एक दिन पहले ही जिला अधिकारी मार्केंडेय शाही कर चुके थे।
मंगलवार को आयुक्त एस वी एस रंगाराव ने भी कोविड हॉस्पिटल कैम्पस में पहुंचकर रखरखाव व टीकाकरण का निरीक्षण किया व आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कोविड 19 वैक्सीन के ड्राई रन का आयुक्त ने किया निरीक्षण 

निरीक्षण के दौरान प्रमुख अधीक्षक ने आयुक्त को बताया कि सर्वप्रथम फ्रंट लाइन वर्कर्स व स्वास्थ्य कर्मियों का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किया जाएगा।उसके बाद 50 वर्ष से अधिक आयु एवम गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।

जिलाअधिकारी  ने कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर हुए ड्राई रन की किया समीक्षा

जिलाअधिकारी  ने कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर हुए ड्राई रन की किया समीक्षा

 गोण्डा। जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने मंगलवार को हुए कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन की समीक्षा की। कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में जिलाधिकारी ने ड्राई रन के दौरान मिली कमियों की समीक्षा की तथा कमियों को दूर करने के साथ ही कोविड वैक्सीनेशन में लगाए गए स्टाफ का पुनः प्रशिक्षण कराएं तथा अस्पताल में वैक्सीनेशन के दौरान कोविड-19 प्रोटोकाल तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन सुनिश्चित कराएं तथा यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित हो कि हर लाभार्थी के पास उसका परिचय पत्र अनिवार्य रूप से हो। वैक्सीनेशन के दौरान कोई भी स्टाफ या लाभार्थी बिना परिचय पत्र ने मिले, यह कड़ाई से सुनिश्चित किया जाय।
बैठक में डब्लूएचओ के अधिकारी द्वारा बताया गया कि माॅक ड्रिल के दौरान कई कमियां पाई गई हैं। जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देशित किया कि डब्लूएचओ की बाइड लाइन के अनुसार समस्त वेकसीनेान स्टाफ का पुनः प्रशिक्षण कराएं तथा महिला अस्पताल के सीएमएस को निर्देश दिए कि वे महिला अस्पताल के स्टाफ को कोविड वैक्सीनेशन पोर्टल की ट्रेनिंग दिलाएं। एससीपीएम अस्पताल में भीड़ ज्यादा होने की समस्या बताई गई जिस पर डीएम ने निर्देश दिए कि अस्पताल प्रशासन से वार्ता कर कोविड-19 प्रोटोकाॅल तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। बायोमेडिकल बेस्टेज के बारे में बताया कि बायो मेडिकल बेस्टेज ले जाने वाली कम्पनी द्वारा बायो मेडिकल बेस्टेज का डिस्पोजल समुचित तरीके से नहीं किया जा रहा है। इस पर डीएम ने निर्देष दिए कि सम्बन्धित एजेन्सी तथा महानिदेशक को इस बारे में पत्र लिखकर अवगत करया जाय। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि कन्ट्रोल रूम के नम्बर क्रियाशील हों यह भी सुनिश्चित किया जाय।
बैठक में सीडीओ शशांक त्रिपाठी, सीएमओ डा0 अजय सिंह गौतम, एएसपी महेन्द्र कुमार, सीएमएस महिला अस्पताल डा0 ए0पी0 मिश्रा, बीएसए इन्द्रजीत प्रजापति, डीपीओ मनोज कुमार, डब्लूएचओ के अधिकारी विनय डांगे, डीएमसी यूनीसेफ शेषनाथ सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *