Gonda News:आयुक्त ने फीता काटकर स्वयं सहायता समूहों की तीन दिवसीय प्रदर्शनी का विकास भवन में किया शुभारम्भ

राम नरायन जायसवाल

ग़ोण्डा ।दीन दयाल अन्त्योदय योजना के तहत स्वयं सहायता समूहों के स्वावलम्बन के लिए बुधवार को विकास भवन परिसर में तीन दिवसीय प्रदर्शनी का शुभारम्भ हुआ। देवीपाटन मण्डल के आयुक्त एसवीएस रंगाराव व डीएम डा0 नितिन बंसल ने फीता काटकर प्रदर्शनी का शुभारम्भ किया तथा उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशान गोण्डा के अन्तर्गत जिला ग्राम्य विकास संस्थान झंझरी गोण्डा द्वारा समूह सखी माड्यूल का प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली महिलाओं को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया ।

प्रदर्शनी का शुभारम्भ करने के उपरान्त आयुक्त ने जनपद के विभिन्न विकासखण्डों के 12 स्वयं सहायता समूहों द्वारा लगाए गए स्टालों का अवलोकन किया तथा स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से वार्ता कर उनके द्वारा स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से किए जा रहे कार्यों बेहतरीन कार्यों के बारे में जानकारी ली। इस अवसर पर आयुक्त ने कहा कि आने वाले दिनों के स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाए जा रहे उत्पादों को स्थानीय स्तर पर अच्छी मार्केट उपलब्ध कराने के लिए कर्मचारी कल्याण निगम से जोड़ने का काम किया जाएगा इसके साथ महीने में दो दिन स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाए गए उत्पादों की बिक्री के लिए सरकारी दफ्तरों में तथा शहर में अन्य खाली स्थलों पर स्टाल लगवाए जाएगें।

आयुक्त ने स्टालों के अवलोकन के दौरान स्वयं सहायता समूह शंकर प्रेरणा स्वयं सहायता समूह द्वारा उत्पादित आइस्टर मशरूम व मशरूम का अचार भी खरीदा। उन्होंने स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनए गए दिये, मोबत्ती, खोया मुरब्बा, जूट बैग, हींग, बेकरी उत्पादों आदि की गुणवत्ता की प्रशंसा करते हुए उनका उत्साहवर्धन किया तथा सीडीओ को इस प्रकार के आयोजन कराने पर बधाई भी दी। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से जहां एक ओर स्वयं सहातय समूहों की महिलाओं का मनोबल बढ़ेगा, वहीं दूसरी ओर मा0 प्रधानमंत्री व मा0 मुख्यमंत्री जी के आत्म निर्भर भारत अभियान तथा लोकल फाॅर वोकल की मुहिम को बल मिलेगा।

मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने बताया कि स्वयं सहायता समूहों के स्टाॅल विकास भवन परिसर में 13 नवम्बर तक लगे रहेगें। उन्होेंने अधिकारियों-कर्मचारियों तथा जनसामान्य से अपील की है कि वे दीपावली के अवसर पर स्वयं सहायता समूहों के अथक परिश्रम से तैयार किए गुणवत्तापूर्ण उत्पादों को खरीदें जिससे उन्हें अच्छी क्वालिटी के उत्पाद मिल सकें तथा स्वयं सहायता समूहों को आर्थिक मदद के साथ ही स्थानीय स्तर पर बाजार मिल सके।
इस दौरान डीसी एनआरएलएम हरिश्चन्द्र प्रजापति, सुधीर सिंह, नीलाम्बुज कुमार, आदर्श कश्यप् तथा अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *