Gonda Maskanwa News:अमर सेनानियों के गांव में तीन दिन से बिजली न आने पर फूटा ग्रामीणों का आक्रोश

चक्रवाती तुफान यास के चलते तेज हवाओ के साथ हुई बारिश के चलते ढह गया आम का पेड़ उसके चपेट में आने से ग्यारह हजार हाईटेशन के गिरे पोल

संजय यादव

मसकनवां, गोण्डा।जिले के कई क्षेत्रो में तीन दिन पहले आई तेज आंधी से कुछ गांवों की बत्ती गुल हो गई थी उसी में एक अमर सेनानियों का गांव खजुरी जहाँ पर तीन दिन बाद भी बिजली विभाग के कर्मचारियों ने गांवों की सप्लाई को ठीक नहीं किया। इससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।

बताते चले कि चक्रवाती तुफान के चलते 27 मई की शाम अचानक मौसम ने करवट बदलने पर तेज आंधी के साथ क्षेत्र में बारिश भी हुई थी। तेज आंधी की वजह से क्षेत्र में करीब कई पोल धराशाई हो गए थे।उसी में विकासखण्ड छपिया के अंतर्गत अमर सेनानी गाँव(खजुरी) में तीन दिनों से बिजली नहीं आ रही हैं, जिससे वहां के ग्रामीणों में काफी आक्रोश है।और बिजली न आने से लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।अन्ना सिंह,पप्पू सिंह,राहुल यादव, शिवम सिंह, पिंटू सिंह, रवि सिंह,राजन सिंह, आदि लोगों का आरोप हैं ।रात्रि को गर्मी और मच्छरों का अधिक प्रकोप होने से लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

बिजली ठीक कराने को लेकर ग्रामीणों के द्वारा कई बार शिकायत की गई है, परन्तु कोई भी अधिकारी और कर्मचारी कुछ सुनने को तैयार नही है।
वहा के लोगों का कहना हैं कि हो रही लगातार बारिश और तेज हवाओं के चलते शुक्रवार को आम का पेड़ ग्यारह हजार लाइन (तार) पर गिर गया जिससे 5 पोल और ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हो गया।खजुरी गांव के लाइनमैन मोनू पाण्डेय को इसके बारे में सूचना दिया गया ,लेकिन उनके कानों तक जूं नहीं रेंगा।जे ई साहब मसकनवा को इस बात से अवगत कराया गया। साहब ने आश्वासन दिया,कि शाम तक लाइट सही करवा देंगे शाम बीत गया।लेकिन अभी तक उसका कुछ निष्कर्ष नही निकल सका।जबकि स्वतंत्रता लडाई में जिले का सबसे अग्रणी भूमिका निभाने वाले लोगों में इस गांव का सुमार रहा है जहां महात्मा गाँधी से लेकर जजवाहर लाल नेहरू व इंदिरा गांधी तक आ चुकी है।
पोल व लाइनों के टूटने के बाद ही ग्रामीणों ने इसकी सूचना बिजली विभाग के अधिकारियों को दी थी, लेकिन तीन दिन बीतने के बाद भी बिजली विभाग के अधिकारियों ने लापरवाही दिखाते हुए सप्लाई ठीक नहीं की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *