Gonda News:अमृत महोत्सव काकोरी ट्रेन एक्शन की वर्षगांठ,पर अमर शहीद सेनानी बाबू द्वारिका सिंह के जन्म स्थली पर उपवन बाटिका की आधार शिला

चौरी चौरा शताब्दी समारोह काकोरी कांड घटना की वर्षगांठ एवं आजादी अमृत महोत्सव पर उपवन बाटिका की आधार शिला

जनपद के एक मात्र शहीद सेनानी बाबू द्वारिका सिंह के जन्म स्थली खजुरी ग्राम में

चिन्टू खान

गोण्डा।चौरी चौरा शताब्दी समारोह काकोरी कांड में शहीद हुए सेनानियों की वर्ष गाँठ पर आजादी अमृत महोत्सव पर जनपद के एक मात्र अमर शहीद सेनानी बाबू द्वारिका सिंह के जन्म स्थली उनके पैतृक गाँव खजुरी मे स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उपवन वाटिका की आधार शिला रखी गयी।

जिले के एक मात्र शहीद सेनानी बाबू द्वारिका सिंह के जन्म स्थली खजुरी गांव में आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक प्रभात वर्मा ने उनकी प्रतिमा पर
माल्यार्पण कर सेनानियों को शौर्य वीरता का नमन करते हुए उनके चरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित किया करते बताया कि बाबू द्वारिका सिंह जी खजुरी गांव के साथ-साथ गोंडा जिले का आंदोलन में सफल बनाने के लिए अपना सर्वत्रव न्योछावर किया उन्होंने बताया कि 1894 जन्म लेने वाले सन 1930 में शहीद होने वाले बाबू द्वारिका सिंह खजुुुरी गांव के दर्जनभर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन गोंडा जिले के साथ-साथ खजुरी गांव मे अलख जगाई सन 1920 से लेकर जीवन के अंतिम सांस तक नवयुवकों को आजादी के लिए संगठित होने तथा अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ आवाज बुलंद करने के लिए प्रेरित किया। गांधी जीने नमक सत्याग्रह और स्वदेशी आंदोलन के लिए देशवासियों को आह्वान किया तो बाबू द्वारिका सिंह ने गोंडा नगर में आकर पकड़िया मैदान में नमक बनाया और उन्होंने बाजारों में बेचा इस अभूतपूर्व घटना से अंग्रेजी हुकूमत के पांव उखड़ गए ।

शहीद बाबू द्वारिका सिंह को जहर देकर गोण्डा जिला कारागार में अंग्रेजी हकुमत ने मारा था परिवार को पार्थिव शरीर भी नही हुई थी भेंट।

जिले के खजुरी गांव सबसे ज्यादा स्वतत्रता संग्राम सेनानी दिये थे


बाबू द्वारिका सिंह जी ,बाबू संत बक्श सिंह जी,बाबू बब्बन सिंह जी, बाबू महादेव सिंह जी,बाबू सर्वदमन सिंह जी, बाबू मथुरा सिंह जी, बाबू नरसिंह बहादुर सिंह जी, बाबू बृज मोहन सिंह जी , बाबू उमराव सिंह जी , बाबू शेर बहादुर सिंह तथा इसी गांव से शहीदों की श्रेणी में बाबू द्वारिका सिंह का नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित है।

जिले के सबसे ज्यादा स्वतंत्रता की लड़ाई में भाग लेने वालों में विकासखंड छपिया का नाम सबसे आगे रहा है सबसे ज्यादा सेनानी इसी ब्लॉक के रहे है।

जनपद एक मात्र जीवित स्वतंत्रता संग्राम सेनानी को किया सम्मानित

गोण्डा ।अमृत महोत्सव के शुभारंभ एंव काकोरी कांड दिवस पर शहीदों की स्मृति में सोमवार को जगह-जगह विविध कार्यक्रम आयोजित हुए।तहसील क्षेत्र करनैलगंज के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आचार्य राम अचल द्विवेदी को उपजिलाधिकारी हीरालाल व क्षेत्राधिकारी मुन्ना उपाध्याय ने नगर के गाड़ी बाजार में स्थित राधा-कृष्ण मंदिर में अंग वस्त्र साल भेंट कर सम्मानित किया। 97 वर्षीय आचार्य राम अचल द्विवेदी जिले में मौजूदा समय मे एक मात्र स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हैं। तहसील करनैलगंज क्षेत्र के भोंका पतिसा के मूल निवासी हैं। इन्होंने आजादी के लड़ाई में अहम योगदान दिया था। जिलाधिकारी के निर्देश पर यह सम्मान एसडीएम व सीओ द्वारा दिया गया तथा उनके अच्छे स्वास्थ्य व दीर्घायु होने की कामना की। इस मौके पर सुरेश कुमार पुरवार सोनू, अरमान पुरवार, कन्हैयालाल वर्मा, अर्चित पांडेय आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *