Gonda News:अभ्युदय योजना से गरीब मां बाप के बच्चे भी बन सकेंगे बड़े अधिकारी-एल वेंकटेश्वर लू

गांधी पार्क टाउन हॉल में एक दिवसीय मंडलीय कार्यशाला संपन्न

राम नरायन जायसवाल

गोण्डा।मुख्यमंत्री अभ्युदय योजनवके तहत गांधी पार्क के टाउन हॉल में बुधवार को एक दिवसीय मंडलीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
प्रदेश के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एवं उपमा के प्रबंधक एल वेंकटेश्वर लू द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।
अभ्युदय योजना की सराहना करते हुए महानिदेशक ने प्रतियोगी छात्र-छात्राओं को सफलता के गुर बताए। उन्होंने कहा कि संविधान ने देश के नागरिकों को अवसर की समानता प्रदान किया है। इस योजना से यह सभी पूर्ण रूप से फलीभूत होंगी। अब गरीब मां-बाप के मेधावी बच्चे भी बड़े अधिकारी बन सकेंगे। उन्होंने कहा कि अभ्युदय योजना से बच्चों एवं शिक्षकों में पठन-पाठन की रुचि ही नहीं जागृत होगी, बल्कि इस योजना से अवसर और प्रतिष्ठा की समानता भी प्राप्त होगी। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों, शिक्षकों को संकल्प दिलाया कि वह अभ्युदय योजना को आगे ले जाने में अपना योगदान देंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी सेवा में योग्यता के आधार पर चयन होना चाहिए न कि किसी अन्य प्राथमिक आधार पर।उन्होंने कहा कि अभ्युदय योजना के अंतर्गत देवीपाटन मंडल में काफी अच्छे प्रयास किए जा रहे हैं।


अभ्युदय योजना तहत मंडल में बनाई जाएगी अलग से वेबसाइट

आयुक्त देवी पाटन मंडल एसवीएस रंगाराव ने कहा कि मुख्यमंत्री अभ्युदय येजना के अंतर्गत दी जा रही कोचिंग में क्वालिटी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत दी जा रही कोचिंग में ओरिएंटेशन बदल रहे हैं ताकि अभ्यर्थियों में यदि कोई गलत चीज घर कर गई है तो उसे भी दूर किया जा सके। उन्होंने कहा कि अभी तक इस योजना का फीडबैक बहुत अच्छा रहा है। उन्होंने बताया कि अभ्युदय योजना में देवीपाटन मंडल की एक पृथक वेबसाइट बनाई जाएगी जिससे अभ्यर्थियों को और अधिक आसानी हो जाए।

प्रतिष्ठित विद्यालयों में स्थापित की जा रही लाइब्रेरी

जिलाधिकारी मार्कंडेय शाही ने कहा कि इस योजना में इतने आईएएस पढ़ा रहे हैं तो अभ्यर्थी के लिए यह एक अवसर और आकर्षण तो है ही। उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने गोंडा में बड़ी संख्या में स्मॉर्ट क्लासेज़ तैयार कराने शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि अगले कुछ समय में हम इस योजना के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा बच्चों को कोचिंग देने में सक्षम हो सकें।जिलाधिकारी ने कहा कि अब जिले के सभी प्रतिष्ठा लब्ध विद्यालयों में अनिवार्य रूप से लाइब्रेरी स्थापित कराने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है, और जल्द ही इसके सुखद परिणाम देखने को मिलेंगे।

संसाधनों से जूझ रहे अभ्यर्थियों के लिए वरदान है योजना

पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार पांडे ने कहा कि संसाधनों के अभाव से जूझ रहे अभ्यर्थियों के लिए यह योजना वरदान हैँ। कार्यशाला में उपस्थित कई अभ्यर्थियों व अध्यापकों ने सवाल भी पूछे जिनका मुख्यातिथि ने जवाब दिया। इस अवसर पर डीएम बहराइच और डीएम श्रावस्ती ने भी प्रेरणादायक विचार रखे।

इनकी रही उपस्थिति

कार्यशाला में डीएम बहराइच शंभू कुमार, डीएम श्रावस्ती टी.के. शिबू, प्रशिक्षु आईएएस अफसर सूरज पटेल, नगर मजिस्ट्रेट वंदना त्रिवेदी, एसडीएम सदर कुलदीप सिंह, एलबीएस प्रिंसिपल वंदना सारस्वत, जीजीआईसी प्रिंसिपल गीता त्रिपाठी, जिला समाज कल्याण अधिकारी मोतीलाल सहित अन्य गणमान्य नागरिक, अभ्युदय योजना के तहत चयनित छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *