Lakhimpur Kheri News:सरकार ने बात नही मानी तो सरकार बदल दी जाएगी: जयंत चौधरी लखीमपुर में विशाल किसान पंचायत

एन.के.मिश्रा

पलियाकलां (लखीमपुर खीरी )किसानों के ऊपर तीन काले कृषि कानून जबरदस्ती थोपे जा रहे हैं। जब किसानों को यह तीन कृषि कानून नहीं चाहिए तो उन्हें वापस मोदी सरकार क्यों नहीं लेती, यह लड़ाई किसानों की जमीन की है। किसान किसी भी कीमत पर पीछे नहीं हटेंगे, जब तक यह तीनों कृषि कानून वापस नहीं लिए जाते। पलिया तहसील के संपूर्णानगर पब्लिक इंटर कॉलेज के मैदान में किसान महापंचायत को रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी जो पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पोते हैं वह भी पहुंचे। संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि लखनऊ व दिल्ली बैठी सरकार ने आज तक गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ाया। सरकार नही सुनेगी तो बदल दी जाएगी डीजल पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हैं। रसोई गैस कनेक्शन तो गरीबों को फ्री बांट दिए लेकिन, उनके दाम इतने बढ़ा दिए कि गैस आज 800 में लेने को मजबूर है। महंगाई बढ़ रही है। मोदी सरकार किसानों की आय दुगनी कैसे करेगी। किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहा है। हम किसानों के साथ हैं। आज सरकार किसानों को जाति वाद में बांंट रही है। देश के प्रधानमंत्री किसानों को खालिस्तानी बताते हैं तो कभी आंदोलन जीबी व परजीवी कहते हैं। सरकार यह जान ले कि यह किसान हैं। किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहा है। तीनों कृषि कानूनों को मुंहतोड़ जवाब मिलेगा। किसान जब तक कृषि कानून वापस नहीं करा देते तब तक पीछे नहीं हटेंगे संपूर्णानगर में किसान महापंचायत के दौरान सपा कांग्रेस के नेता भी मौजूद रहे। कांग्रेस के प्रदेश सचिव सैफ अली नकवी, सपा के पूर्व सांसद रवि प्रकाश वर्मा, सपा नेत्री अनीता यादव, नरेश यादव पीलीभीत के पूर्व मंत्री हेमराज वर्मा, गोला के पूर्व विधायक विनय तिवारी, श्रीनगर विधायक रामशरण, गुरप्रीत सिंह जार्जी सहित तमाम अन्य दलों के नेता एकत्रित नजर आए। सभी ने कहा कि हम किसानों के साथ हैं। यह सरकार किसानों पर तीन काले कानून जबरदस्ती थोप रही हैं। जिसे किसान मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं।

इस किसान महापंचायत में पड़ोसी जनपद पीलीभीत के अलावा खीरी से भी काफी बड़ी मात्रा में किसान पहुंचे थे। किसानों की भीड़ करीब 5000 से भी ऊपर थी। हालांकि प्रशासन भी पूरी तरह से मुस्तैद रहा। किसान आंदोलन में पहुंचने वाले किसानों के लिए मालपुरी, मंहगापुर, खजुरिया सहित क्षेत्र के अन्य गुरुद्वारों से भी लंगर चाय की व्यवस्था की गई थी।

किसान महापंचायत को लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट था। पीएसी भी तैनात की गई थी। पलिया सर्किल के सभी थानों चंदन चौकी, गौरीफंटा, तिकोनिया पलिया के अलावा खीरी मोहम्मदी, भीरा से पुलिस फोर्स बल पहुंची हुई थी। अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार व एडीएम डा.अरुण कुमार के अलावा पुलिस क्षेत्राधिकारी संजय नाथ तिवारी उप जिलाधिकारी डॉ अमरेश कुमार संपूर्णानगर पहुंचे। हालांकि अधिकारी थाने व किसान सहकारी चीनी मिल के गेस्ट हाउस में मौजूद रहे। यदि कोई गड़बड़ी होती है तो उससे निपटने के लिए पुलिस बल भी पूर्णता तैनात रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *