Lakhimpur Kheri News:मातृ भाषा भावनाओं की भाषा होती है: डा० बीनारानी गुप्ता

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी।भगवान दीन आर्यकन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय लखीमपुर खीरी के हिंदी विभाग द्वारा दिनांक 26 फरवरी को प्राचार्य डॉ० सुरचना त्रिवेदी की अध्यक्षता में अंतरराष्ट्रीय भाषा सप्ताह समारोह के अंतर्गत विभिन्न प्रतियोगिताएं संपन्न हुईं। ज्ञात हो कि महाविद्यालय में दिनांक 21 से 28 फरवरी तक भाषा सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है जिसमें विविध प्रतियोगिताएं हो रही है। निबंध लेखन प्रतियोगिता जिसका विषय “राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मातृ भाषाओं का संरक्षण एवं संवर्धन” आयोजित की गई। प्रतियोगिता में 13 छात्राओं ने प्रतिभाग किया। इसमें प्रथम स्थान शिवानी सिंह, द्वितीय स्थान खुशी जैसवाल, तृतीय स्थान नेहा शुक्ला, तथा सांत्वना साक्षी गुप्ता ने प्राप्त किया। भाषण प्रतियोगिता जिसका विषय “मातृभाषा के बिना राष्ट्र का समुचित विकास संभव नहीं है” आयोजित किया गया। इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान नगर फातिमा, द्वितीय स्थान प्रियांशु मिश्रा, तृतीय स्थान आयशा बानो तथा सांत्वना स्थान स्नेहा शुक्ला को मिला ऐसी संगोष्ठी में मातृ भाषाओं के साहित्य पर आधारित एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में छात्राओं ने प्रतिभाग किया महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ सुरचना त्रिवेदी ने विजयी छात्राओं जिसमें स्नेहा शुक्ला शिवानी सिंह लक्ष्मी देवी काजल बानो शशि देवी खुशी जैस्वाल प्रियांशु मिश्रा अपर्णा सिंह प्रियांशी तथा शिवांशी को पुरस्कृत किया। प्राचार्य डॉ सुरचना त्रिवेदी ने अपने उद्बोधन से छात्राओं को प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम की संयोजक हिंदी विभागाध्यक्ष डा० बीनारानी गुप्ता ने अंतर्राष्ट्रीय भाषा सप्ताह के उद्देश्य एवं महत्व पर बल देते हुए भारतीय भाषाओं के उत्कृष्ट साहित्य की चर्चा की। कार्यक्रम की संयोजक तथा संचालिका सुशीला सिंह ने अपने सुंदर और प्रेरक संचालन से कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए। हिंदी साहित्य परिषद के सभी पदाधिकारियों के सहयोग से यह सुंदर कार्यक्रम संपन्न हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *