Gonda Mankapur News:लैंडस्केप डायग्नोस्टिक सर्वेक्षण कार्य संपन्न

बी.के.ओझा

मनकापुर, गोंडा।आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या द्वारा संचालित कृषि विज्ञान केंद्र मनकापुर गोंडा के डॉक्टर ओम प्रकाश वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष, डॉ मिथिलेश कुमार पांडे वरिष्ठ वैज्ञानिक, डॉक्टर के के मौर्य, डॉक्टर राम लखन सिंह, डॉ मनोज कुमार सिंह, सिसा पूर्वी उत्तर प्रदेश मुख्यालय गोरखपुर के वैज्ञानिक प्रभात कुमार, राजेश कुमार एवं चंदन कुमार तथा आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज एवं चंद्र शेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर के कृषि स्नातक के अंतिम वर्ष के रावे छात्रों आदर्श तिवारी, अवधेश यादव, अरविंद यादव, अनंत उपाध्याय, आयुष सोनी, अभय प्रताप सिंह, अर्जुन कुमार यादव, राजेश जायसवाल, परमेश्वर प्रसाद तिवारी द्वारा लैंडस्केप डायग्नोस्टिक सर्वेक्षण का कार्य विकासखंड बभनजोत मनकापुर नवाबगंज झंझरी करनैलगंज आदि 11 विकास खंडों के 30 गांवों में किया गया । लैंडस्केप डायग्नोस्टिक सर्वेक्षण का कार्य एंड्राइड मोबाइल फोन में ओडीके कलेक्ट ऐप डाउनलोड करके किया गया ।

इस सर्वेक्षण में धान गेहूं फसल की कृषक पद्धतियों के आंकड़े किसानों से एकत्रित कर संबंधित प्रपत्र पर भरे गए । सर्वेक्षण के दौरान पाया गया कि अधिकांश किसानों द्वारा गेहूं की छिटकवां बुवाई की गई है । साथ ही कृषकों द्वारा प्रयोग की जाने वाली बीज की मात्रा एवं उर्वरक की मात्रा वैज्ञानिक संस्तुति से काफी भिन्न है । जिसके कारण धान एवं गेहूं की उत्पादकता काफी कम प्राप्त हो रही है । सर्वेक्षण के दौरान कृषकों को वैज्ञानिक संस्कृति के अनुसार बीज खाद उर्वरक सिंचाई प्रबंधन खरपतवार पादप रोग प्रबंधन आदि की जानकारी कृषकों को दी गई । सिसा परियोजना की स्थापना वर्ष 2009 में की गई थी ।

इसका मुख्य उद्देश 8 मिलियन किसानों को फायदा पहुंचाने का रखा गया है । इस परियोजना का उद्देश्य गेहूं, धान की उत्पादकता बढ़ाने, संसाधन संरक्षण तकनीक के द्वारा मिट्टी की उर्वरा शक्ति को बनाए रखना एवं पर्यावरण सुरक्षित रखना है । यह परियोजना सिमिट, अंतरराष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान एवं अंतरराष्ट्रीय धान अनुसंधान संस्थान के सहयोग से चलाई जा रही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *