Lakhimpur Kheri News:ओम साईं इंटर कॉलेज में लगी यातायात पाठशाला

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के तहत.
एआरटीओ ने बताएं यातायात नियमों के गुरु, दिलाया सड़क सुरक्षा का संकल्प
एन.के. मिश्रा
लखीमपुर खीरी।  जिले में लीलाकुआं स्थित ओम साईं इन्टर कालेज में एआरटीओ (प्रवर्तन) रमेश कुमार चौबे ने विद्यालय के सभी शिक्षार्थियों को सड़क सुरक्षा की जानकारी दी। सड़क से सम्बन्धित नियमों, संकेतकों के बारे में बताया। जिससे वह अपने परिवार के लोगों को सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूक कर सकें। शिक्षार्थियों को दुर्घटना में घायल हुए व्यक्ति को किस प्रकार से प्राथमिक सहायता दी जाये। जिससे कि उसका जीवन बचाया जा सके। कार्यक्रम का समापन एआरटीओ (प्रवर्तन) रमेश कुमार चौबे ने सभी छात्र-छात्राओं को सड़क सुरक्षा की शपथ दिलाई। तथा उनसे यह वचन भी लिया कि वह अपने परिवार के सदस्यों को वाहन चलाते समय सदा हेल्मेट व सीटबेल्ट का प्रयोग करने को उतप्रेरित करेंगे व कभी भी नशे की स्थिति में वाहन का संचालन नहीं करायेंगे।  उपस्थित लोगों को सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित लीफलेट व पम्पलेट भी वितरित किये गये।
*सड़क सुरक्षा संगोष्ठी का हुआ आयोजन, शामिल हुए ऑटो, टैम्पो, टैक्सी एसोसिएशन के प्रतिनिधि व चालक*
जिले स्तर पर ऑटो, टैम्पो, टैक्सी आपरेटर्स एशोशिएशन की मदद से इनके चालकों के लिये सड़क सुरक्षा विषयक एक संगोष्ठी का आयोजन परिवहन कार्यालय के रोड सेफ्टी अवेयरनेस हाल में हुआ।
एशोशिएशन के प्रतिनिधियों व चालकों को सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित जानकारी प्रदान की। परिवहन अधिकारियों ने ऑटो-टेंपो-टैक्सी चालकों को सड़क सुरक्षा के संबंध में न सिर्फ जागरूक किया बल्कि वह सभी यातायात नियमों का पालन कर शहर की यातायात व्यवस्था को बेहतर और सुगम व बेहतर बना सकते हैं।
कार्यक्रम में एआरटीओ (प्रशासन) आलोक कुमार सिंह, यात्रीकर अधिकारी श्रीराम कश्यप, टी.एस.आई. सूर्यमणि यादव एवं कार्यालय के कर्मचारियों, प्रवर्तन सिपाहियों सहित कुल 250 से भी ज्यादा लोग शामिल हुए।
*एआरटीओ के नेतृत्व में जिलेभर में चला चेकिंग अभियान*
*वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करना पड़ा महंगा, हुआ चालान*
जिले के विभिन्न क्षेत्रों में एआरटीओ (प्रवर्तन) रमेश कुमार चौबे के नेतृत्व में यात्री कर अधिकारी श्री राम कश्यप, टी.एस.आई. सूर्यमणि यादव ने मोबाईल व ड्रंक एण्ड ड्राइविंग की चेकिंग का अभियान चलाया। चेकिंग के साथ ही सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूक भी किया। वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का प्रयोग क्यों नहीं करना चाहिये। इस सम्बन्ध में भी बताया। परिवहन-पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त रूप से चेकिंग करते हुए 35 वाहनों का मोबाईल फोन के अभियोग में चालान किया। ड्रंक एण्ड ड्राइविंग के विरूद्ध दो पहिया एवं चार पहिया वाहनों के चालकों का परीक्षण किया। एल्कोहल की क्षमता मापने वाली मशीन से परीक्षण हुआ। परीक्षण में कोई भी वाहन चालक नशे में नहीं पाया गया। वही वाहन संचालन करते समय मोबाइल फोन का प्रयोग करने वाले करीब 35 लोगों का चालान हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *